Fixed Deposit में निवेश करने वाले Senior Citizen ध्यान दे, ये FD कर देगी आपको मालामाल

नई दिल्ली, 27 सितम्बर, 2023 : अभी भी कई ऐसे बैंक हैं, जो सीनियर सिटीजन को फिक्स्ड डिपॉजिट पर आकर्षक ब्याज दर ऑफर कर रहे हैं. ये बैंक सीनियर सिटीजन को 8.35% की दर पर ब्याज ऑफर कर रहे हैं.

एक्सपर्ट्स का मानना है कि फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी का दौर अब लगभग खत्म होने वाला है. कुछ बैंकों ने तो इन दरों में कटौती करनी शुरू भी कर दिया है. लेकिन, अभी भी कई बैंक ऐसे हैं, जो सीनियर सिटीजन को एफडी पर 8% से ज्यादा दर से ब्याज दे रहे हैं. आगे हम इन्ही बैंकों के एफडी की डिटेल्स दे रहे है. ये दरें 2 करोड़ रुपए से कम एफडी के लिए है.

DCB Bank सीनियर सिटीजन FD  

सीनियर सिटीजन्स के लिए ये बैंक 8.35% की दर फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दे रहा है. ये ब्याज दर 25 महीने से लेकर 37 महीने की अवधि वाले एफडी के लिए है. हालांकि, 37 महीने की अवधि वाले एफडी के लिए ये बैंक 8.5% की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है, जोकि फिलहाल एफडी स्कीम्स पर मिलने वाले सबसे ज्यादा ब्याज में से एक है.

IndusInd Bank सीनियर सिटीजन FD 

प्राइवेट सेक्टर का ये बैंक 33 महीने से लेकर 39 महीने तक की अवधि में मैच्योर होने वाले एफीड पर 8% की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है. 19 महीने में और 24 महीने मैच्योर होने वाली एफडी पर ये बैंक 8.25% की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है.

Yes Bank सीनियर सिटीजन FD  

प्राइवेट सेक्टर का ये बैंक सीनियर सिटीज को FD पर 8% की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है. ये ब्याज दर 36 महीने से लेकर 60 महीनों की एफडी पर होगा. हालाकिं, 18 महीने से लेकर 24 महीने तक की एफडी पर ये बैंक 8.25% की दर से ब्याज ऑफर करता है.

Bandhan Bank सीनियर सिटीजन FD 

ये बैंक सीनियर सिटीजन को 3 साल की एफडी पर 7.75% की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है. हालांकि, 500 दिन की एफडी पर ये बैंक सीनियर सिटीजन को 8.35% की दर पर ब्याज दर ञऑफर कर रहा है.

IDFC First Bank सीनियर सिटीजन FD 

ये बैंक सीनियर सिटीजन को 751 दिन से लेकर 1,095 दिन की एफडी पर 7.75% की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है.

फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश करने वाले सीनियर सिटीजन को यह भी ध्यान देना होका कि उनके सभी एफडी पर मिलने वाला ब्याज अगर 50,000 रुपए से ज्यादा होता है तो बैंक की ओर से टीडीएस भी काटा जा सकता है. टीडीएस की ये दर 10% तय है.

लेकिन, पैन कार्ड नहीं जमा करने की सूरत में टीडीएस दर बढ़कर 20% पर पहुंच सकती है. हालांकि, बैंक की ओर काटे गए इस टीडीएस को इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) में क्लेम किया जा सकता है.

Post a Comment

0 Comments