Income Tax Return: बिना पैन कार्ड के नहीं कर सकते आप ये काम, जुर्माना लगेगा सो अलग

GSTR-9C और एडवांस टैक्स की तीसरी किश्त जमा करने का काम भी दिसंबर माह में पूरा किया जा सकता है. तब आप कर संबंधी कार्यों की चिंता किए बिना नए साल के जश्न में डूब सकते हैं।साल 2022 का आखिरी महीना शुरू हो गया है। इस महीने के बाद दुनिया नए साल के जश्न में डूब जाएगी, ऐसे में आराम से जश्न मनाने के लिए टैक्स से जुड़े कामों को निपटाना जरूरी है। अगर आपको लेट फाइन के साथ इनकम टैक्स भरना है या पहले से फाइल किए गए ITR में कोई गलती सुधारनी है तो इसी महीने निपटा लें.

  • अगर आपकी आय पांच लाख रुपये से अधिक है तो आपको पांच हजार रुपये विलंब शुल्क देना होगा। तो टैक्स से जुड़े ये काम दिसंबर अंत से पहले ही कर लें। यदि आप आयकर के अधीन हैं और आपने अभी तक 2021-22 के लिए अपना आईटीआर रिटर्न दाखिल नहीं किया है, तो आप विलंब शुल्क के साथ 31 दिसंबर तक ऐसा कर सकते हैं। अगर आपकी सालाना आय पांच लाख रुपए से कम है तो आपको एक हजार रुपए जुर्माने के तौर पर देने होंगे।
  • रिवाइज्ड रिटर्न 31 दिसंबर तक फाइल करना है। अगर आप ऐसा नहीं कर पाए तो आपको गलती सुधारने का मौका नहीं मिलेगा। ऐसे में आपको आयकर विभाग का नोटिस भी मिल सकता है। अगर आपने 2021-22 का इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते समय कोई गलती की है तो उसे 31 दिसंबर तक सुधार सकते हैं.
  • GST पंजीकृत करदाताओं को हर वित्तीय वर्ष की समाप्ति के बाद सालाना GSTR-9C फाइल करना होता है। यदि आवश्यक हो तो संशोधित रिटर्न दाखिल किया जाना है। 2021-22 के लिए इसकी आखिरी तारीख 31 दिसंबर है। अगर आप इस तारीख के बाद अपना रिटर्न फाइल करते हैं तो 200 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना देना होगा। यह टर्नओवर के अधिकतम 0.5 प्रतिशत तक जा सकता है। GSTR-9C उन करदाताओं के लिए जिनका वार्षिक कारोबार पांच करोड़ रुपये से अधिक है।
  • अगर आपको एडवांस टैक्स देना है, और आपने आखिरी तारीख 15 दिसंबर तक नहीं भरा तो उसके लिए अलग नियम है। ऐसे करदाता जिनका सालाना टैक्स 10 हजार रुपये से ज्यादा है। अगर वे 15 दिसंबर तक 75 प्रतिशत अग्रिम कर जमा नहीं कर पाते हैं तो एक प्रतिशत ब्याज वसूला जाएगा. 75% से कम अग्रिम कर भुगतान की स्थिति में 1% का ब्याज भी वसूला जाता है।

Post a Comment

0 Comments