हॉकी के गौरव को बहाल करने के लिए हरसंभव प्रयास करूंगा : मुख्यमंत्री भगवंत मान

चंडीगढ़ | पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने राज्य में हॉकी के गौरव को बहाल करने के लिए हरसंभव प्रयास करने का गुरुवार को संकल्प लिया। अपने आवास पर मेन्स हॉकी वल्र्ड कप की ट्राफी का स्वागत करने वाले मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाबियों ने हॉकी के क्षेत्र में हमेशा उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है और राज्य के लिए कई उपलब्धियां हासिल की हैं।

अपने देशव्यापी दौरे के तहत 13 जनवरी, 2023 से ओडिशा में शुरू होने वाले पुरुष हॉकी विश्व कप की ट्रॉफी बुधवार को अमृतसर (पंजाब) पहुंची।

उन्होंने कहा कि, यह सम्मान और गर्व की बात है कि टोक्यो में खेल स्पर्धा के दौरान 41 साल बाद ओलंपिक में पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम में कप्तान मनप्रीत सिंह सहित 11 खिलाड़ी राज्य के हैं।

मान ने कहा कि इसी तरह 1975 में देश के लिए एकमात्र विश्व कप जीतने वाले भारतीय दल का नेतृत्व भी पंजाब के बेटे अजीतपाल सिंह ने किया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह ट्रॉफी देखकर अभिभूत हैं। उन्होंने कहा कि यह बहुत गर्व की बात है कि आने वाले विश्व कप हॉकी में भाग लेने वाली भारत की टीम में आधे से ज्यादा पंजाब से हैं।

उन्होंने कहा कि इस गति को बनाए रखने की जरूरत है ताकि आने वाले समय में और पदक हासिल किए जा सकें।

हालांकि, मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों की लगातार उपेक्षा के कारण राष्ट्रीय खेल होने के बावजूद हॉकी खेलों में पिछड़ गया है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार हॉकी को खेल के क्षेत्र में उचित स्थान दिलाने के लिए भरसक प्रयास कर रही है।

मान ने कहा कि उनकी सरकार खेलों विशेषकर हॉकी को बढ़ावा देकर नशे के अभिशाप को खत्म करने के लिए ठोस प्रयास करेगी।

Post a Comment

0 Comments