यमुना प्राधिकरण ने दर्ज करवाई 50 कॉलोनाइजरो पर एफआईआर, 250 करोड़ की जमीन पर किया था कब्जा

ग्रेटर नोएडा :  यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी के सीईओ के आदेश पर 50 कॉलोनाइजर ऊपर एफआईआर दर्ज कराई गई है। इन कॉलोनाइजर्स ने अलीगढ़ के टप्पल में यमुना प्राधिकरण की करीब ढाई सौ करोड़ की कीमत की जमीन पर अवैध कब्जा कर लिया था। 3 दिन पहले प्राधिकरण ने कॉलोनाइजर्स से यमुना प्राधिकरण की भूमि को मुक्त कराया था।

दरअसल अलीगढ़ जिले में यमुना अथॉरिटी की अधिसूचित जमीन पर अवैध कॉलोनाइजर धीरे-धीरे कब्जा जमा रहे थे। टप्पल नगर पंचायत के पास काफी समय से अवैध निर्माण हो रहा था। दरअसल सरकार ने 1 साल पहले टप्पल ग्राम पंचायत को नगर पंचायत घोषित कर दिया था। इसके लिए यमुना अथॉरिटी से कोई अनापत्ति नहीं ली गई। जिसका विरोध यमुना अथॉरिटी ने सरकार से दर्ज कराया था। यमुना प्राधिकरण ने सरकार से यह बताया था कि उनकी अधिसूचित जमीन पर अवैध कॉलोनाइजर लगातार कब्जा कर रहे हैं। जिसके बाद से सरकार ने इसका संज्ञान लिया और नगर पंचायत को खत्म कर फिर से ग्राम पंचायत कर दिया गया और यमुना अथॉरिटी की जमीनों पर वापस से उनका ही कब्जा हो गया।

यमुना प्राधिकरण ने जिन लोगों का अवैध अतिक्रमण हटाया उन लोगों के खिलाफ एफआइआर भी दर्ज कराई है। इस एफआईआर में 50 लोग शामिल है। जिन्होंने सरकार की ढाई सौ करोड़ से ज्यादा की जमीन पर कब्जा किया था। यमुना प्राधिकरण के अधिकारियों ने लोगों से अपील की है लोग जेवर एयरपोर्ट के आसपास की जमीनों के लोक लुभावने ऑफर में न फांसे। भू माफिया लोगो को धोखा देने की कोशिश कर रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments