जानिए वजन घटाने में किस तरह मददगार है विटामिन-डी

विटामिन डी एक स्टेरॉयड हार्मोन है जिसे सनशाइन विटामिन के रूप में जाना जाता है। हमारा शरीर कोलेस्ट्रॉल के माध्यम से विटामिन डी का उत्पादन करता है। वैसे तो शरीर को फिट और फाइन रखने के लिए सभी पोषक तत्वों की जरूरत होती है। इन्हीं में से एक है विटामिन-डी जिसके कई स्रोत हैं। यह हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाता है। इतना ही नहीं, विटामिन डी कैल्शियम के अवशोषण और हड्डियों के स्वास्थ्य, ऊतक स्वास्थ्य, कोलन स्वास्थ्य में सुधार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। साथ ही यह इम्युनिटी का भी ख्याल रखता है।

अक्सर शरीर में विटामिन-डी की कमी के कारण कई बीमारियां होने लगती हैं, जिनके बारे में हमें जानकारी नहीं होती है। विटामिन डी की कमी से टाइप-2 मधुमेह, हृदय रोग, उच्च रक्तचाप और मोटापे का खतरा होता है। सवाल उठता है कि क्या विटामिन डी मोटापा कम करने में कारगर साबित हो सकता है?

आइए जानते हैं विटामिन-डी क्या है?

विटामिन डी एक स्टेरॉयड हार्मोन है जिसे सनशाइन विटामिन के रूप में जाना जाता है। हमारा शरीर कोलेस्ट्रॉल के माध्यम से विटामिन डी का उत्पादन करता है। यह ज्यादातर तब होता है जब हमारा शरीर और त्वचा सूरज की यूवी किरणों के संपर्क में आते हैं।

विटामिन-डी मजबूत प्रतिरक्षा, हड्डियों के स्वास्थ्य, मांसपेशियों के निर्माण, इंसुलिन प्रतिरोध को उलटने, जोड़ों के दर्द को कम करने, कैंसर को रोकने और वजन घटाने में मदद करता है। डॉक्टर्स का कहना है कि अगर आप बढ़ते वजन से परेशान हैं तो आप विटामिन डी युक्त चीजों का सेवन कर सकते हैं।

वजन घटाने में विटामिन-डी कैसे मदद करता है?

एक शोध से पता चला है कि विटामिन-डी शरीर में बनने वाली नई वसा कोशिकाओं के उत्पादन को कम करने में सक्षम है। इतना ही नहीं, विटामिन डी वसा संचय को प्रभावी ढंग से कम करने के लिए वसा कोशिकाओं के भंडारण को भी दबा सकता है।

विटामिन-डी सेरोटोनिन और टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ा सकता है, जो आपके चयापचय को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इससे आपका शरीर अधिक कैलोरी बर्न करता है। जिससे भूख नियंत्रित रहती है और तृप्ति बढ़ती है। यानी आपको बार-बार भूख लगने की समस्या नहीं होती है।

Post a Comment

0 Comments