भारतीय ओलंपिक संघ की अध्यक्ष बनीं महान एथलीट पीटी उषा

नई दिल्ली | महान भारतीय एथलीट पीटी उषा को सोमवार को भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) का अध्यक्ष चुना गया। केंद्रीय कानून मंत्री और पूर्व खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने आईओए के अध्यक्ष के रूप में उनकी नियुक्ति पर अनुभवी धावक को बधाई दी। 26 नवंबर को, 58 वर्षीय उषा ने सोशल मीडिया पर सभी को सूचित किया था कि उन्होंने अगले महीने आईओए चुनावों में शीर्ष पद के लिए अपना नामांकन दाखिल किया था।

आईओए चुनावों के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की समय सीमा 27 नवंबर को समाप्त हो गई। आईओए चुनाव रिटनिर्ंग ऑफिसर उमेश सिन्हा को 27 नवंबर तक शीर्ष पद के लिए कोई नामांकन नहीं मिला। हालांकि, रविवार को विभिन्न पदों के लिए 24 उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किया था।

भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने भी रिजिजू के ट्वीट को रीट्वीट किया, महान गोल्डन गर्ल, पीटी उषा को भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष के रूप में चुने जाने पर बधाई। मैं अपने देश के सभी खेल हीरो को प्रतिष्ठित आईओए के पदाधिकारी बनने पर बधाई देता हूं। एक राष्ट्र के रूप में उन पर गर्व है।"

भारत में सबसे अधिक माने जाने वाले एथलीटों में से एक, उषा ने एशियाई खेलों में चार स्वर्ण पदक और सात रजत पदक जीते हैं।

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) की नई कार्यकारी समिति के लिए 10 दिसंबर के चुनाव के दौरान नव-निर्वाचित एथलीट आयोग द्वारा मतदान के लिए चुने गए एसओएम के आठ खिलाड़ियों में उषा शामिल हैं।

अन्य सात एसओएम में योगेश्वर दत्त (कुश्ती) एमएम सोमाया (हॉकी), रोहित राजपाल (टेनिस), अखिल कुमार (मुक्केबाजी), सुमा शिरूर (शूटिंग), अपर्णा पोपट (बैडमिंटन) और डोला बनर्जी (तीरंदाजी) शामिल हैं।

15 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि संविधान को अपनाने और भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) की कार्यकारी समिति के लिए मतदान के संबंध में उसके आदेशों का ईमानदारी से पालन किया जाना चाहिए।

पीठ ने कहा कि न्यायमूर्ति राव द्वारा प्रस्तुत नोट के संदर्भ में व्यापक सहमति जताई कि चुनाव 10 दिसंबर को होना चाहिए।

Post a Comment

0 Comments