गंगोत्री धाम के कपाट अन्नकूट के पावन पर्व पर शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए

देहरादून : आज अन्नकूट के पावन पर्व पर अपराह्न 12:01 बजे वैदिक मंत्रोच्चार एवं विधि-विधान से श्री गंगोत्री धाम के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए हैं। इस अवसर पर हजारों श्रद्धालु कपाट बंद होने के साक्षी बने। मां गंगा की उत्सव डोली समारोहपूर्वक जयकारों के साथ मुखबा गांव के लिए रवाना हुई। मां गंगा का रात्रि विश्राम आज मां चंडी देवी (मार्कण्डेय पुरी) मन्दिर में होगा। कल मां गंगा की उत्सव डोली भैया दूज के पर्व पर अपने मायके  मुखबा (मुखीमठ) पहुंचेगी। शीतकाल में माँ गंगा के शीतकालीन प्रवास मुखबा स्थित गंगा मंदिर में पूजा-अर्चना होगी। इस यात्रा वर्ष 6 लाख 25 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने माँ गंगा के दर्शन किए।

श्री पांच गंगोत्री मंदिर समिति के अध्यक्ष रावल हरीश सेमवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि विजयदशमी पर्व पर गंगोत्री धाम की कपाट बंदी का समय तय किया गया था। इसी के चलते गंगोत्री धाम के कपाट अन्नकूट पर्व पर बंद कर दिए गए। वहीं मां गंगा की डोली चंडी देवी मंदिर में बुधवार रात्रि प्रवास करेगी। इसके बाद गुरुवार को मां गंगा अगले 6 महीनों के लिए मुखबा में विराजमान होंगी।

इस अवसर पर गंगोत्री विधायक सुरेश चौहान, गंगोत्री मंदिर समिति के रावल हरीश सेमवाल, सचिव सुरेश सेमवाल, सहित बड़ी संख्या में तीर्थपुरोहित, जन प्रतिनिधिगण एवं श्रद्धालुजन मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments