भगवान कृष्ण ने निष्काम कर्म का दिया संदेश : योगी आदित्यनाथ

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर शुक्रवार को यहां पुलिस लाइन में आयोजित जन्मोत्सव कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि पांच हजार साल पहले भगवान श्रीकृष्ण ने इस धरा धाम पर अवतार लिया। उन्होंने दुनिया को निष्काम कर्म का संदेश दिया। उनका यह संदेश विश्व मानवता के लिए एक उद्घोष बना।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि आज मथुरा वृंदावन के उत्सव में शामिल होने का अवसर मिला। अनुमान करिए आज से पांच हजार साल पहले भगवान श्रीकृष्ण ने इस धरा धाम पर अवतरित होकर विश्व मानवता को उस समय निष्काम कर्म की प्रेरणा दी। गीता का यह उद्घोष एक मंत्र बना और जिसने भी इस मंत्र को अंगीकार किया उसका उद्धार हुआ। वह दुनिया के लिए उदाहरण बन गया।

उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से जुड़ने को कहा। इसमें भारत को दुनिया का एक विकसित राष्ट्र के रूप में स्थापित करना है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस बार एक महत्वपूर्ण बात कही। उन्होंने कहा कि कहीं भी कोई दासता का चिन्ह न रहे। गुलामी का कोई ऐसा अवसर न आए जो हम सबको कचोटता हो। अगर हर व्यक्ति अपने कर्तव्यों का पालन करने लग जाए तो आजादी के शताब्दी महोत्सव के लिए भारत को दुनिया के समक्ष प्रस्तुत करने का हम सब के लिए एक अवसर हो सकता है। अभी अमृत काल चल रहा है। इसके सबसे बड़े पुरोधा भगवान कृष्ण हैं जिनका आज जन्मोत्सव मनाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच हजार वर्ष पुराना यह हमारा आध्यात्मिक और सांस्कृतिक धरोहर है। मुझे लगता है कि यह पहला आयोजन होगा जिसे पुलिसकर्मी सामूहिक रूप से मनाते हैं। आज प्रदेश भर के सभी पुलिस लाइन, पुलिस थानों, मुख्यालयों और जेलों में यह कार्यक्रम उत्साह पूर्वक मनाया जा रहा है।

इस मौके पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक, मंत्री जितिन प्रसाद, संदीप सिंह, पूर्व उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, राज्य सभा सांसद बृजलाल, पूर्व मंत्री व एमएलसी मोहसिन रजा, मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र, अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी, डीजीपी डीएस चौहान समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments