सुशासन के साथ लोक कल्याणकारी राज्य ही रामराज्य का प्रतीक : CM चौहान

सुशासन के साथ लोक कल्याणकारी राज्य ही रामराज्य का प्रतीक : CM चौहान

भोपाल :  मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि रामराज्य की कल्पना अच्छे राज्य के लिए की जाती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सुशासन और लोक कल्याणकारी राज्य की स्थापना के साथ आत्म-निर्भर भारत का निर्माण हो रहा है। प्रधानमंत्री मोदी गौरवशाली, वैभवशाली और समृद्ध राष्ट्र के निर्माण में लगे हैं। मध्यप्रदेश सरकार का भी संकल्प है कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में मध्यप्रदेश में भी रामराज्य की कल्पना को साकार करें। इसके लिए जन-कल्याणकारी योजनाओं के साथ तेज गति से विकास कार्य किए जा रहे हैं। साथ ही प्रदेश में दुष्टों और दुराचारियों के दलन का काम भी चल रहा है। आज रामनवमी पर यही संकल्प है कि हम सब मिलकर अपने प्रदेश का विकास करें। परहित सरस धरम नहीं भाई….. के आदर्शों का पालन करते हुए सभी लोग मिलकर कल्याण के काम में लगें।

राम जी की जय-जय कार से गूँजा परिसर

मुख्यमंत्री चौहान ने आज रामनवमी पर कार्यक्रमों में भागीदारी मुख्यमंत्री निवास से प्रारंभ की। प्रात: मुख्यमंत्री निवास पर कन्याओं के पूजन और कन्या-भोज के साथ पूजा-अर्चना कार्यक्रम हुए। मुख्यमंत्री  चौहान और  साधना सिंह चौहान ने बालिकाओं को प्रसाद वितरण किया। मुख्यमंत्री निवास पर रामनवमी पर भगवान राम की स्तुति में अनेक भजन गूँजे। मुख्यमंत्री चौहान ने भजन भी गाये। इनमें राम नाम सुखदाई......., भजन करो रे भाई, ये जीवन दो दिन का......., भये प्रकट कृपाला........ और  रामचंद्र कृपालु भजमन......... शामिल हैं। भजन प्रस्तुति के बाद आरती हुई। मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी साधना सिंह, अधिकारी-कर्मचारी और श्रद्धालु उपस्थित थे।

प्रदेशव्यापी आयोजन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि रामनवमी का महापर्व पूरी श्रद्धा और धूमधाम से मनाया जा रहा है। चित्रकूट में, ओरछा और प्रदेश के अन्य स्थानों में अलग-अलग मंदिरों में कार्यक्रम हो रहे हैं। प्रदेशवासियों को रामनवमी की बधाई देते हुए मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि भगवान श्रीराम हमारे रोम-रोम में रमे और हमारी हर साँस में बसे हैं। भगवान श्री राम हम सब के आराध्य हैं।

Post a Comment

0 Comments