डॉ. अम्बेडकर की स्मृति को चिर-स्थाई बनाने पंचतीर्थ बनाया: गृह मंत्री डॉ. मिश्रा

डॉ. अम्बेडकर की स्मृति को चिर-स्थाई बनाने पंचतीर्थ बनाया: गृह मंत्री डॉ. मिश्रा

भोपाल : गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने संविधान निर्माता डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर की 131वीं जयंती पर उन्हें नमन किया और पुष्पांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि डॉ. अम्बेडकर की स्मृति को चिर-स्थाई बनाने के लिये केन्द्र सरकार ने उनसे जुड़े हुए स्थानों को पंचतीर्थ के रूप में विकसित किया है। डॉ. मिश्रा ने सभी से बाबा साहेब के बताए मार्ग पर चलने का आह्वान किया। डॉ. मिश्रा ने कहा कि बाबा साहेब के सपनों को साकार करने के लिये एक कदम और आगे बढ़ाते हुए दतिया और इंदरगढ़ में 4-4 करोड़ से अधिक राशि के छात्रावास बनाये जायेंगे।

गृह मंत्री डॉ. मिश्रा अम्बेडकर जयंती पर दतिया की नगर पंचायत बड़ौनी में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब की स्मृति को चिर-स्थाई बनाने के लिये प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में महू, नागपुर, दिल्ली, मुम्बई और लंदन को पंचतीर्थ के रूप में विकसित किया है। उन्होंने कार्यक्रम में वरिष्ठ और प्रबुद्धजनों को सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में पूर्व गृह मंत्री  महेन्द्र बौद्ध ने कहा कि बाबा साहेब अम्बेडकर के बताए मार्ग पर चलकर अपने बच्चों को शिक्षित बनायें।

लगभग साढ़े 8 करोड़ रूपये से बनेंगे दो छात्रावास

मंत्री डॉ. मिश्रा ने दतिया के किला चौक में अम्बेडकर जन-जागृति समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भी शामिल हुए। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा सभी के विकास के लिये निरंतर प्रयत्न किये जा रहे हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना से अधिकतम हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया है। शिक्षा के क्षेत्र में भी ज्यादा से ज्यादा लाभान्वित करने के प्रयास सरकार द्वारा किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि दतिया में 4 करोड़ 32 लाख रुपये की लागत से 50 सीटर कन्या छात्रावास और इंदरगढ़ में 4 करोड़ 20 लाख रुपये की लागत से 50 सीटर छात्रावास का निर्माण कर विद्यार्थियों को अध्ययन की बेहतर सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी।

कार्यक्रमों में  सुरेन्द्र बुधौलिया, सावित्र सूत्रकार, प्रवीण पाठक, रविकांत भारतीय,  अनूप जाटव,  रामप्रकाश अहिरवार, डॉ. आशीष मौर्य, राजेश पैकरा,  अनिल कुमार टोप्पो,  केशव वर्मा सहित जन-प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments