नेशनल कैंसर ग्रीड की सदस्यता लेने वाला देश का पहला राज्य बनेगा मप्र

नेशनल कैंसर ग्रीड की सदस्यता लेने वाला देश का पहला राज्य बनेगा मप्र


- मंत्री सारंग ने की टाटा मेमोरियल अस्पताल के संचालक डॉ. सीएस प्रमेश के साथ वर्चुअल बैठक

भोपाल, 20 अप्रैल (हि.स.)। चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा नवाचार की श्रृंखला में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिये शुरू किये गये मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन अंतर्गत प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने बुधवार को मुंबई के टाटा मेमोरियल अस्पताल के संचालक के साथ वर्चुअल बैठक की। बैठक में मध्यप्रदेश को नेशनल कैंसर ग्रीड से जोड़ने एवं मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन में टाटा मेमोरियल अस्पताल के साथ एमओयू करने पर निर्णय लिया गया।

इस एमओयू के बाद मध्यप्रदेश नेशनल कैंसर ग्रीड की सदस्यता लेने वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा। टाटा मेमोरियल अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. सीएस प्रमेश ने प्रेजेंटेशन में नेशनल कैंसर ग्रीड के माध्यम से कैंसर रोगियों के उपचार, कैंसर रिसर्च एवं चिकित्सकों की ट्रैनिंग के संबंध में जानकारी दी।

डिजिटल प्लेटफॉर्म से कैंसर मरीजों को परामर्श

संचालक डॉ. प्रमेश ने बताया कि नेशनल कैंसर ग्रीड (एनसीजी) से देश में 266 सेंटर्स संचालित किये जा रहे हैं, जहां कैंसर के उपचार एवं शोध को लेकर कार्य किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त ग्रीड द्वारा एक डिजिटल पोर्टल भी प्रारंभ किया है, जिसमें मरीज अपनी मेडिकल रिपोर्ट एवं अन्य जानकारी अपलोड कर एक्सपर्ट डॉक्टरों द्वारा परामर्श ले रहे हैं।

टाटा मेमोरियल के साथ होगा एमओयू

मंत्री सारंग ने टाटा मेमोरियल अस्पताल मुंबई के साथ एमओयू करने की बात कही। इससे प्रदेश के कैंसर रोगियों के बेहतर उपचार के साथ ही कैंसर शोध एवं प्रदेश के चिकित्सकों को उच्च स्तरीय प्रशिक्षण मिलेगा। सारंग ने कैंसर शोध एवं उपचार के क्षेत्र में टाटा मेमोरियल अस्पताल के योगदान की सराहना करते हुए कहा कि अस्पताल के द्वारा कैंसर मरीजों के साथ ही समाज के लिये किये जा रहे प्रयास अनुकरणीय हैं।

इस दौरान संचालक चिकित्सा शिक्षा डॉ. जितेंद्र शुक्ला, मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन के नोडल अधिकारी डॉ. आशीष गोहिया सहित समस्त चिकित्सा महाविद्यालयों के डीन एवं कैंसर विभाग के विभागाध्यक्ष उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

Post a Comment

0 Comments