उत्तराखंडः शपथ ग्रहण समारोह को ऐतिहासिक बनाने का खाका तैयार

उत्तराखंडः शपथ ग्रहण समारोह को ऐतिहासिक बनाने का खाका तैयार


देहरादून, 19 मार्च (हि.स.)। उत्तराखंड राज्य की नवनिर्वाचित भाजपानीत सरकार के होने वाले शपथ ग्रहण समारोह को भव्य बनाने के लिए आज शाम भाजपा प्रदेश मुख्यालय में बैठक हुई। बैठक में प्रदेश महामंत्री (संगठन) अजेय के अलावा प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार सहित राज्य एवं जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

प्रदेश महामंत्री (संगठन) अजेय ने कहा कि कार्यकर्ताओं के प्रयास से भाजपा ने ऐतिहासिक जीत हासिल की है। कार्यकर्ताओं ने प्रदेश की राजनीति में दशकों से चला आ रहा मिथक को भी तोड़ा है।

उन्होंने आगे कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने पार्टी को फिर से प्रचंड बहुमत दिलाया और उन सब का भ्रम चकनाचूर किया है जो सरकार के सपने पाले हुए थे। भाजपा ने जिस प्रकार से जनता का विश्वास जीता है वह इस ऐतिहासिक जीत से स्पष्ट होता है।

उन्होंने कहा कि इस ऐतिहासिक जीत का शपथ ग्रहण भी ऐतिहासिक, भव्य और दिव्य होना चाहिए। कार्यकर्ताओं को इसका पूर्ण श्रेय जाता है। यह कार्यक्रम विशेष होगा। यह कार्यक्रम राजभवन से बाहर निकलकर परेड ग्राउंड में होगा। इस कार्यक्रम से जनता का जुड़ाव की रूपरेखा बनेगी। यह कार्यक्रम 5 साल के लिए मील का पत्थर साबित होगा। कार्यक्रम से आमजन को आमजन की सरकार का संदेश जाएगा और आने वाले 5 साल में सरकार किस दिशा में कदम बढ़ाएगी वह भी इस कार्यक्रम से संदेश जाएगा।

प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने कहा कि प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार ने कार्यक्रम को ऐतिहासिक बनाने के लिए वर्चुअल माध्यम से जरूरी दिशा-निर्देश दिए थे। उसी के अनुरूप भाजपा मुख्यालय में यह बैठक आयोजित की गई।

कुलदीप कुमार ने प्रदेश पदाधिकारी, जिला अध्यक्ष, जिला महामंत्री, मोर्चों के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं को उनके कार्यों से अवगत कराया। वरिष्ठ कार्यकर्ता, प्रदेश कार्यकर्ता, जिला कार्यकर्ताओं से संपर्क के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेता ज्योति प्रसाद गैरोला को जिम्मेदारी दी गई है। प्रदेश मंत्री पुष्कर काला और विरेंद्र बिष्ट को साधु-संतों से संपर्क का जिम्मा सौंपा गया है।

उसी प्रकार हरिद्वार के जिला अध्यक्ष डॉ जयपाल चौहान, जिला महामंत्री विकास तिवारी और सुमित को संघ परिवार से संपर्क करने की जिम्मेवारी दी गई है। उद्योगपतियों, सामाजिक संस्थाओं, संस्कृति से जुड़े गणमान्य, एनजीओ, पूर्व सैनिकों, आंदोलनकारियों, विभिन्न यूनियनों, महिलाओं, वरिष्ठ जनों, डॉक्टर, इंजीनियर, प्रोफेसर, वाइस चांसलर, अन्य राज्यों के विशिष्ट लोगों, मीडिया आदि से संपर्क करने के लिए अलग-अलग पदाधिकारियों को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां सौंपी गई।

हिन्दुस्थान समाचार/ गुंजन कुमार

Post a Comment

0 Comments