मप्रः इंदौर की श्रुति नागर सीएस की परीक्षा में रहीं आल इंडिया टापर

मप्रः इंदौर की श्रुति नागर सीएस की परीक्षा में रहीं आल इंडिया टापर


इंदौर, 25 फरवरी (हि.स.)। भारतीय कंपनी सचिव संस्थान (आईसीएसआई) की दिसंबर 2021 में हुई मुख्य परीक्षाओं का परिणाम शुक्रवार को घोषित हुआ। इस परीक्षा में इंदौर की श्रुति नागर ने देशभर में पहला स्थान प्राप्त किया है। कंपनी सेक्रेटरी संस्था की इंदौर शाखा से परीक्षा देने वाले तीन अन्य छात्र-छात्राओं ने भी टाप बीस में जगह बनाई है। ये सभी विद्यार्थी कंपनी सेक्रेटरी प्रोफेशनल की परीक्षा में शामिल हुए थे।

जानकारी के अनुसार, इंदौर से तीन से चार हजार विद्यार्थियों ने उक्त परीक्षा दी थी। सीएस एग्जीक्यूटिव एवं प्रोफेशनल का आईसीएसआई की वेबसाइट (www.icsi.edu) पर शुक्रवा को दोपहर 12 बजे परीणाम घोषित किया, जिसमें विद्यार्थियों के विषयवार, ब्रेकअप और मार्क्स स्टेटमेंट दिए गए हैं। प्रोफेशनल परीक्षा में बीकाम की छात्रा श्रुति आल इंडिया टापर रही हैं। इसके अलावा इंदौर की आकांक्षा गुप्ता (चौथे), प्रियम गोयल (12वें) और प्रिंसी त्रिवेदी (18वें) स्थान पर रही हैं।

सीएस इंदौर शाखा के प्रशासनिक अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि सीएस एग्जीक्यूटिव और प्रोफेशनल परीक्षा हुई, जिसमें ओल्ड और न्यू सिलेबस हजारों की संख्या में छात्र-छात्राएं शामिल हुए। दिसंबर में देशभर के 140 सेंटर से परीक्षा दी गई।

सभी विषयों की बराबर की तैयारी

सीएस में देश की टापर रही श्रुति नागर बीकाम की छात्रा हैं। वाणिज्य की पढ़ाई करने के साथ ही उन्होंने सीएस की तैयारी की है। श्रुति का कहना है कि दिसंबर की परीक्षा के लिए तीन महीने सिर्फ सेल्फ स्टडी की है। इस दौरान टेस्ट सीरिज को हल किया और प्रत्येक विषयों की बराबर तैयारियां की। रोजाना आठ से दस घंटे पढ़ाई की है। वे बताती है कि विषय में दिक्कतें आने पर शिक्षकों की मदद ली। कोरोना की वजह से आनलाइन टीचर्स से मार्गदर्शन लिया।

चौथा स्थान पर रही आकांक्षा गुप्ता ने बीकाम से स्नातक किया है। उनका कहना है कि मार्च से अक्टूबर के बीच उन्होंने आनलाइन क्लासेस अटैंड की। इसके बाद सेबी, इनकाम टैक्स और जीएसटी की वेबसाइट रोजाना कई बार देखती थी। नियमों में संशोधन के बारे में तुरंत पता लगता था। इस तरह से तैयारी करने में काफी आसानी हुई। प्रतिदिन सारे विषय की तैयारी की और चुनिंदा टापिक पर शिक्षकों से मार्गदर्शन लिया।

12वां स्थान हासिल करने वाले प्रियम गोयल विधि संकाय के भी छात्र है। निजी कालेज से बीबीएएलएलबी (पांच वर्षीय) पाठ्यक्रम की पढ़ाई कर रहे है। अंतिम वर्ष में होने के चलते प्रियम ने ला और सीएस की पढ़ाई साथ-साथ की है। वे बताते है कि कोरोना की वजह से सीएस की कक्षाएं आनलाइन लगती थी।अलग-अलग विषय के लिए तीन संस्थानों के शिक्षक पढ़ाते थे। टेस्ट सीरीज के अलावा शिक्षकों ने बेसिक कंसेप्ट क्लीयर कर दिए थे।

18वें स्थान पर रही प्रिंसी त्रिवेदी ने बताया कि उन्होंने बीकाम के बाद एलएलबी में प्रवेश लिया है। उन्होंने सीएस के लिए प्रतिदिन 12 घंटे मेहनत की है। प्रिंसी का कहना है कि कोचिंग क्लास में सिलेबस पूरा होने के बाद उन्होंने तीन महीने सेल्फ स्टडी की और सभी विषयों की तीन से चार बार तैयारी की। शिक्षकों ने भी समय-समय पर मार्गदर्शन दिया। टेस्ट सीरिज को हल कर कमजोर विषय पर ध्यान दिया।

सीएस इंदौर शाखा के अध्यक्ष सीएस अरविन्द कुमार मीणा ने बताया कि आईसीएसआई ने जून 2022 में होने वाली परीक्षा की तारीख घोषित कर दी है। एक से 10 जून के बीच परीक्षा होगी। इसके लिए एक मार्च से आवेदन किया जा सकेगा। आगामी 25 मार्च के बाद विद्यार्थियों को विलंब शुल्क के साथ आवेदन भरना होगा। उसकी अंतिम तारीख नौ अप्रैल रखी गई है।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

Post a Comment

0 Comments