अगले 48 घंटे बहुत भारी बारिश

देश के दक्षिणी राज्यों में बारिश से हालात बद से बदतर हो गए हैं. हर दिन बारिश एक अंतहीन कहानी की तरह जारी है। दक्षिण अंडमान सागर के पास बंगाल की खाड़ी में एक मौसम प्रणाली विकसित हो रही है। यह सिस्टम आज ही लो प्रेशर में विकसित होने की संभावना है। दूसरा, एक ऐसा सिस्टम जो अरब सागर के ऊपर पहुंच गया है, जिसके कारण अरब सागर के ऊपर घने बादल छाए हुए हैं, इससे आने वाले दिनों में देश के अन्य राज्यों में मौसम की गड़बड़ी हो सकती है। यह सिस्टम 1 दिसंबर को महाराष्ट्र के तटों के पास पहुंच जाएगा।

हालांकि, इसका असर 30 नवंबर से ही दिखना शुरू हो जाएगा। संक्षेप में कहें तो दिसंबर का महीना तेज बारिश और बारिश के साथ शुरू होने वाला है। इसके अलावा सबसे अहम है भारत के पहाड़ी राज्यों पर आने वाला सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, यह विक्षोभ आज यानी 30 नवंबर को दस्तक दे सकता है। जिसका गहरा असर 4 से 5 दिन बाद देखने को मिलेगा।


आज कैसा रहेगा मौसम- मौसम विभाग के मुताबिक मंगलवार से बंगाल की खाड़ी में बना मौसम सिस्टम और सक्रिय होने लगेगा। मौसम के अनुकूल होने के कारण यहां चक्रवात 'जवाद' के सक्रिय होने की पूरी संभावना है। वहीं, दक्षिण अंडमान सागर में एक मौसम प्रणाली विकसित हो गई है, जिससे अगले 24 से 48 घंटों तक अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। साथ ही तेज हवाएं भी चलेंगी। 

मौसम विभाग ऐसे हालात में सतर्क, सावधान रहने का निर्देश देता है। अगले 24 घंटों के बाद पूरे बंगाल की खाड़ी में ऐसा ही मौसम देखने को मिलेगा। धीरे-धीरे ये गतिविधियां और गंभीर होती जाएंगी। आज 30 नवंबर से तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक के सभी हिस्सों, आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना है। लेकिन, 48 घंटे तक बहुत भारी बारिश नहीं हुई है, लेकिन बंगाल की खाड़ी से उठा हुआ चक्रवात जैसे-जैसे देश के राज्यों की ओर बढ़ेगा, इसका असर ओडिशा, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु तक भीषण रूप में दिखेगा।

Post a Comment

0 Comments