डेंगू के क़हर से 1 घण्टे में 3 की मौत, प्राइवेट अस्पताल पर लापरवाही का आरोप, परिजनों का हंगामा

सजारुल हुसैन

मुरादाबाद। जिले लगातार डेंगू को प्रकोप बढ़ रहा है।डेंगू आशंकित मरीज़ों की संख्या 900 को पार कर चुकी हैं। जिले के कुंदरकी में डेंगू आशंकित कई लोगो की मौत हो चुकी है, सोमवार देर रात में जिले एक बड़े हॉस्पिटल ब्राइट स्टार में भी 1 घण्टे में 3 डेंगू से पीड़ित लोगों की मौत हुई है।परिजनों ने इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाकर कर हंगामा किया है।

मुरादाबाद। कोरोना संक्रमण काल में डेंगू की रफ़्तार तेज़ी से बढ़ रही है। जिले में हर दिन डेंगू के मरीज़ों की संख्या बढ़ रही है डेंगू आशंकित मरीज़ों की  लगभग 900 के आंकड़े को पार कर चुकी है। लोगों को डेंगू का डंक लग रहा है। पिछले दस दिनों में जिले में डेंगू आशंकित मरीज़ों की मौतों संख्या बढ़ रही है ।जबकि अभी एक स्वास्थ्य विभाग की ओर जिले में डेंगू से होने वाली मौतों का आंकड़ा नही दिया गया। वही सोमवार रात को जिले ब्राइट स्टार हॉस्पिटल में 1 घण्टे में डेंगू के 3 मरीज़ों की मौत हो  चुकी है।जिमसें परिजनों ने लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा भी कियक गया है।

जिले में इस बार डेंगू का प्रभाव कुछ ज्यादा ही देखने को मिल रहा है। अक्तूबर के आखिरी हफ्ते  से लेकर नवंबर में भी लोगों को डेंगू का डंक लग रहा है, जबकि जानकारों के मुताबिक आमतौर पर बीस अक्तूबर के बाद डेंगू का प्रभाव कम हो जाता है। वायरस निष्क्रिय होने लगते हैं। लेकिन डेंगू का वायरस अभी भी सक्रिय हैं। 15 अक्तूबर से 25 अक्तूबर तक जिले में डेंगू के 246 केस मिले चुके हैं। इस दौरान 16 अक्तूबर को सर्वाधिक 46 केस मिले, जबकि 17 अक्तूबर को सबसे कम छह मरीज पाए गए। जिसके बाद नवंबर में डेंगू ने फिर से रफ्तार पकड़ ली ओर आंकड़ा अब तक 900 को भी पार कर चुका है।

दो दिन में बुखार पीड़ित पिता-पुत्र की मौत

जिले के नरोदा गांव में महज दो दिन के अंदर पिता पुत्र की मौत गो गई ।गांव के डेंगू के लेकर गांव में डर का माहौल बना हुआ है।जिले के कुंदरकी क्षेत्र में कई डेंगू आशंकित लोगो की मौत हो चुकी हैं।

ब्राइट स्टार में डेंगू से हुई मौत पर डॉ. सीपी सिंह, डायरेक्टर, ब्राइट स्टार हॉस्पिटल का कहना है कि सोमवार को फिर ब्राइट स्टार में तीनों मरीज डेंगू शॉक सिंड्रोम से पीड़ित थे। इंद्रपाल और उस्मान को वेंटिलेटर पर रखा गया था। दोनों में बीपी और पल्स डाउन थे। इंद्रपाल की किडनी और लिवर खराब हो गया था। दिल भी कमजोर था। दिमाग में सूजन भी थी। उस्मान के प्लेटलेट्स कम थे। मिनी दूसरे अस्पताल से रेफर को होकर आई थी। बीपी और पल्स जैसा कुछ नहीं था। ब्लड पीएच 6.9 था। इलाज में किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती गई।

वहीँ डॉ. संजीव बेलवाल, डिप्टी सीएमओ, मुरादाबाद का कहना है कि ब्राइट स्टार हॉस्पिटल में तीन मरीजों की मौत की सूचना मिली है। तीनों मौतों की वजह जानने के लिए डेथ ऑडिट कराई जा रही है।

Post a Comment

0 Comments