मुरादाबाद की डीएम और एसएसपी बनीं छात्रा संध्या और इकरा

मुरादाबाद। मंगलवार को मुरादाबाद में जिलाधिकारी कार्यालय और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय की कार्यशैली रोजमर्रा से अलग थी। क्योंकि डीएम की कुर्सी पर जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह नहीं बल्कि आकांक्षा विद्यापीठ की छात्रा संध्या भाटी जिलाधिकारी कुर्सी पर बैठी थी और लोगों की शिकायतों को सुन रही थीं।

डीएम के रूप में समस्याएं सुनते संध्या भाटी
उन्होंने एक एक शिकायत को गंभीरता से सुना और अधीनस्थों को जल्द से जल्द निस्तारित करने के निर्देश दिए। साथ ही स्पष्ट किया कि कोताही बरतने पर दंडित किया जाएगा ।

दूसरी तरफ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बब्लू कुमार की कुर्सी पर आज गवर्नमेंट कॉलेज की कक्षा 12 की छात्रा इकरा बैठी हुई थीं। उन्होंने भी एक एक शिकायत को गंभीरता से सुना और संबंधित थानाध्यक्षों को निस्तारित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा किसी के भी साथ अन्याय नहीं होना चाहिए और दोषी को बख्शा नहीं जाए।

शासन की पहल पर मिशन शक्ति अभियान के तहत 1 दिन की डीएम संध्या भाटी और एसएसपी इकरा ने जागरण उजाला से बातचीत करते हुए कहा और बेटियां किसी क्षेत्र में पीछे नहीं है वह पढ़ लिखकर आसमान छू रही है भले ही अभी वह 1 दिन की डीएम एसपी बनी है लेकिन अब सपना आईएएस और आईपीएस ही बनने का है और इसके लिए अब दिन रात पढ़ाई करेंगे ताकि शासन की मंशा अनुरूप अपने को ढाल कर मां-बाप के सपनों को पूरा किया जा सके।

Post a Comment

0 Comments