ये है दुनिया की सबसे क्रूर प्रथा, दर्द से रोती हैं लड़कियां

आज हम आपको जिस प्रथा के बारे में बता रहे हैं वह दुनिया की सबसे क्रूर प्रथा है। अफ्रीका महाद्वीप में केन्या नाम का एक देश है, जहां खतना की प्रथा प्रचलित है। भारत की सती प्रथा और बाल विवाह जैसी प्रथा इस प्रथा के आगे फीकी पड़ जाएगी।

इस प्रथा में लड़कियों का मानसिक और शारीरिक शोषण किया जाता है। लड़कियों का खतना कराने की एक निश्चित उम्र होती है। 7 से 8 साल की उम्र के बीच हर लड़की का खतना किया जाता है।

जब मीडिया रिपोर्टर ने समुदाय के मुखिया से पूछा कि लड़कियों का खतना क्यों किया जाता है, तो उन्होंने कहा कि लड़कियों में पुरुषों की तुलना में 4 गुना अधिक कामेच्छा होती है, जिसे दबाने के लिए खतना किया जाता है।

इस अभ्यास में लड़कियों को असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है। इसमें एक मासूम लड़की को दाई के पास ले जाया जाता है और वहां धारदार हथियार से लड़कियों के भगशेफ को बेरहमी से काट दिया जाता है. इस समय कई लड़कियां दर्द सहन नहीं कर पाती हैं और मर जाती हैं।

Post a Comment

0 Comments