फेसबुक सर्वर डाउन: जुकरबर्ग को 52 हजार करोड़ रुपये से अधिक का घाटा, क्यों हुआ ऐसा?

सोमवार रात को दुनियाभर में फेसबुक, इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप प्लेटफॉर्म करीब छह घंटे के लिए बंद रहे। जिससे अरबों यूजर्स को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। यह समस्या सोमवार रात करीब 9.15 बजे सामने आई। इसके बाद लोगों ने फौरन ट्विटर पर रिएक्शन देना शुरू कर दिया।

 यूजर्स करीब छह घंटे तक इन तीनों प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल नहीं कर पाए। हालांकि, मंगलवार सुबह 4.30 बजे फेसबुक ने ट्वीट कर सेवाओं के बहाल होने की जानकारी दी। इसके साथ ही कंपनी ने यूजर्स को हुई असुविधा के लिए खेद भी जताया। जब आउटेज की यह समस्या उत्पन्न हुई तो लोग न तो संदेश भेज पा रहे थे और न ही उन्हें कोई संदेश मिल रहा था.

फेसबुक ने आउटेज के लिए राउटर कॉन्फ़िगरेशन में बदलाव को जिम्मेदार ठहराया जो उसके डेटा केंद्रों के बीच नेटवर्क संचार का समन्वय करता है। फेसबुक के बुनियादी ढांचे के उपाध्यक्ष, संतोष जनार्दन ने एक पोस्ट में कहा कि नेटवर्क ट्रैफ़िक में इस व्यवधान का हमारे डेटा केंद्रों के संचार के तरीके पर व्यापक प्रभाव पड़ा, जिससे हमारी सेवाएं रुक गईं। 

वहीं, कई तकनीकी विशेषज्ञों के मुताबिक फेसबुक को डाउन करना एक तकनीकी गलती थी। उन्होंने अंदर के आदमी की भूमिका निभाने की संभावना से इंकार नहीं किया।

Post a Comment

0 Comments