शादी से पहले प्रेमी के नाम का सिंदूर लगाती थी बेटी, मां ने दिया ऐसी वारदात को अंजाम कि पुलिस भी हैरान रह गई

इटावा। बेटी की हत्या के आरोप में उसकी मां को आज गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) ओमवीर सिंह ने बुधवार को बताया कि बेटी की हत्या की यह वारदात इटावा के वैदपुरा इलाके के उमराई गांव में 28 अगस्त की शाम को की गई थी। 

जिसमें परिजनो की ओर से पहले बताया गया कि लड़की को परेशान करने वाले युवक ने अपने दो साथियो के साथ हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद मौके से फरार हो गया। इसी आधार पर पुलिस ने लड़की के पिता की तहरीर पर लड़की के प्रेमी और उसके दो साथियो के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया था।

मामला उत्तर प्रदेश के इटावा का है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 28 अगस्त को लड़की की मां ने कहा कि था कि उसकी बड़ी बेटी अपनी छोटी बहन के साथ दवा लेने के लिए गई थी और जब घर लौट कर आई तो देखा की बडी बेटी प्रियंका मांग भर कर अपने प्रेमी से शादी करने की बात कहने लगी। परिणामस्वरूप लडकी से विवाद हुआ और उसका गला दबा दिया, जिससे उसकी मौत हो गई थी ।

 मृत्यु के बाद परिजनो ने राजकुमार और उसके साथियो के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। उन्होंने बताया कि घटना के खुलासे के लिए क्षेत्राधिकारी सैफई के नेतृत्व में एसओजी के अलावा इटावा, वैदपुरा और सैफई थाने की तीन टीम गठित की गयी थी। पुलिस ने इस घटना के सिलसिले में प्रियंका की हत्या के आरोप में उसकी मां निर्मला देवी को आज महोला जेल रोड रेलवे पुल के पास से गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तार हुई महिला ने बताया कि उसकी पुत्री का गांव के राजकुमार से प्रेम प्रंसग चल रहा था, जिसका सभी परिवारीजनों ने विरोध किया,लेकिन वह नहीं मानी और मांग में सिन्दूर भर रही थी । जिसका विरोध मां ने किया था। उसी दौरान गुस्से में उसने प्रियंका को धक्का देकर बेड पर गिरा कर उसका गला दबा दिया, जिससे उसकी मृत्यु हो गई।

निर्मला ने अपने इस कृत्य को छुपाने एवं पुलिस से बचने के लिए प्रेमी राजकुमार पर अपनी पुत्री की हत्या कर फांसी पर लटकाने षडयंत्र रचकर उसके विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कराया गया था। पुलिस की गहन पूछताछ मे यह बात साफ हुई है कि हत्या की किसी और न नहीं बल्कि उसकी मां ने ही की थी। गिरफ्तार महिला को जेल भेज दिया।

Post a Comment

0 Comments