जफर इस्लाम ने कहा- योगी सरकार की सोच ईमानदार और काम दमदार

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के योगी आदित्यनाथ सरकार की साढ़े चार वर्ष की उपलब्धियों पर भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सदस्य/सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद ज़फ़र इस्लाम ने कहा कि साथियों मेरी सरकार का उद्देश्य और संकल्प- सज्जनो का कल्याण उनकी सुरक्षा और दुष्ट और ग़लत लोगों का नाश है। बीमारु राज्य की श्रेणी से निकल कर उत्तर प्रदेश देश और दुनिया में उत्तम प्रदेश के रूप में जाना जाता है ।प्रदेश की विकास यात्रा में आप सब मीडिया बंधु और पूरा उत्तर प्रदेश शामिल है लेकिन फिर भी आपके सामने मै कुछ तथ्य प्रस्तुत कर रहा हूँ।

हमारा लक्ष्य अंत्योदय, प्रण अंत्योदय और पथ अंत्योदय- और वही लक्ष्य हमारी सरकार ने पिछले साढ़े चार साल में साधा है। साथियों आप सब गवाह है की कैसे योगी जी ने कोरोना काल के आपदा को भी अवसर में बदल दिया है। हमारी सबसे बड़ी उपलब्धि ईमानदार सरकार रही है ।इस सरकार में अगर एक रुपया लखनऊ से मुरादाबाद के लिए भेजा जाता है तो वो मुरादाबाद पहुँचते पहुँचते दस पैसा नहीं होता है, बल्कि पूरा एक रुपया ही जनता के पास पहुँचता है।

हमारी सरकार की सोच ईमानदार और काम दमदार है ।अभी सबसे बड़ा मुद्दा विपक्ष के लिए किसान का मुद्दा है ।आँकड़ा को आप देखेंगे तो विपक्ष का पोल इससे खुल जाता है । प्रदेश में 86 लाख किसानो का 36 हज़ार करोड़ का क़र्ज़ माफ़ हुआ है । हमारी सरकार ने 66 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद सीधे किसानों से की है। पिछली सरकार में मात्र 6 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद हुई थी, वह भी किसानों से नहीं आढ़तियों के माध्यम से,आप समझ सकते हैं सारा कष्ट कट मनी का है जिसका सरग़ना उत्तर प्रदेश में विपक्ष के नेताओं के करीबी लोग है।

इसके अलावा क़ानून व्यवस्था के मामले में उत्तर प्रदेश अव्वल है, क्यूँकि अपराधियों पर काल बनी है यूपी सरकार। 150 से अधिक अपराधी एंकाउंटर में मारे गए हैं । 2800 से अधिक अपराधी एंकाउंटर के दौरान घायल हुए हैं उन्हें पकड़ कर सलाख़ों के पीछे भेजा गया है। 550 से अधिक अपराधियों पर NSA लगा है । 3700 से अधिक अपराधी गैंस्टर ऐक्ट के तहत गिरफ़्तार हुए हैं

कहा कि हमारी सरकार का मंत्र साफ़ है- निर्दोष लोगों की संपत्ति व सरकारी संपत्ति पर अवैध कब्जा करने वालों का एक ही उपचार है – बुलडोजर, और वो पूरे प्रदेश में चले रहा है।अपराधियों की क़रीब 1600 करोड़ की हड़पी हुई सम्पत्ति ज़ब्त की गई है- और अब इसका इस्तेमाल आम लोगों की मदद के लिए की जा रही है। पिछले 4.5 सालों से यूपी में अपहरण का जो उद्योग यहाँ के नेताओं की शह पर चलता था पूरी तरह से ठप हो गया है।संगठित अपराध न्यूनतम स्तर पर है. यूपी की कानून व्यवस्था देश के अंदर बेहतर व्यवस्था में से एक है।

मीडिया के सवाल पर क्या बोले-भाजपा नेता जफर इस्लाम…

सर्किट हाउस में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्य सभा सदस्य,प्रभारी मुरादाबाद जफर इस्लाम साहब तथा जिलाधकारी शैलेन्द्र सिंह व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार के सम्मुख बड़े ही जोरदार तरीके से पत्रकारों की समस्याओं को उठाते हुए राष्ट्रीय दैनिक उत्तर केसरी के मुख्य सम्पादक एवं अखिल भारतीय खत्री महासभा (पंजिकृत) के राष्ट्रीय महामंत्री श्याम खन्ना।
इसका परिणाम ये हुआ है कि सूबे के बड़े अपराधियों के एनकाउंटर हुए हैं तो कई बाहुबली नेताओं को मकान, होटल और बिल्डिंगों को पूरी तरह से ढहा दिए गए हैं.। आम लोगों की ज़मीन और सरकारी ज़मीन उनके क़ब्ज़े से मुक्त किया गया – अपराधी सलाखों के पीछे जा रहे हैं। 4.5 वर्ष का यह कार्यकाल सुरक्षा और सुशासन का रहा है

प्रदेश में पहली बार पुलिस एवं फॉरेंसिक इंस्टीट्यूट लखनऊ में स्थापित किया जा रहा है। हमारी सरकार ने सुरक्षा और सुशासन का जो मॉडल दिया है, आज उसे पूरा देश व दुनिया देख रही है।

स्वास्थ्य सेवा के मामले में प्रदेश अव्वल हो गया है। गोरखपुर और राय बरेली में AIIMS का संचालन शुरू हो गया है ।
जन आरोग्य योजना के तहत 6.90 करोड़ से अधिक व्यक्तियों को 5 लाख रुपए का बीमा कवर दिया जा रहा है।
सबसे अधिक कोरोना की टेस्टिंग प्रदेश में हुई है और सबसे अधिक दस करोड़ टीके भी प्रदेश में लगे हैं।

समय पर कदम उठा कर कोरोना संक्रमण के दौरान योगी सरकार ने इससे बड़ी मुस्तैदी के साथ निपटा है और उसे नियंत्रित किया है. सीएम योगी ने कोरोना को सूबे में फैलने से रोकने के लिए टीम बनाकर पहले कोविड केयर फंड का ऐलान किया था।दूसरे राज्यों की तुलना में यूपी में न तो कोरोना से बहुत लोगों की मौत हुई और न ही बहुत ज्यादा फैला। ये यूपी सरकार की बहुत बड़ी उपलब्धि है ।
अब प्रदेश में encephalitis मरीज- बच्चों की मौत का आँकड़ा अब 90 फ़ीसदी तक नीचे आ गया । इसे ज़ीरो करने की bhi कोशिश जारी है ।
लॉकडाउन में दूसरे प्रदेश से लौटे लोगों की स्क्रीनिंग कर उन्हें स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराया गया है।स्थानीय स्तर पर रोजगार दिलाना बहुत बड़ी उपलब्धि है ।


शिक्षा के मामले में आप फ़र्क़ देख सकते हैं-
फर्क साफ है…
1947-2017 : 12 सरकारी मेडिकल कालेज
2017-2021 : 47 नए सरकारी मेडिकल कालेज
16 पीपीपी मॉडल पर मेडिकल कालेज प्रदेश में तैयार हुए है जिसका लाभ प्रदेश के लोगों को मिल रहा है।
इसके अलावा प्रदेश में चार नए राज्य स्तर के विश्वविद्यालय बने हैं
51 नये राजकीये महाविद्यालय
28 engineering कॉलेज की स्थापना की गई है ,इसके अलावा 26 -पॉलीटेक्निक कॉलेजे भी प्रदेश में बनाए गए हैं ।
79 आईटीआई कॉलेज बनाए गए ,250 नये इंटर कॉलेज बनाए गए ।771 कस्तूरबा स्कूल खोले गए हैं।

उपलब्धियों के ‘एक्सप्रेस-वे’ पर है उत्तर प्रदेश ।
विकास की लहर हर गाँव हर शहर तक पहुँची है – 5 international AirPort वाला पहले प्रदेश UP बन गया है ।
आज प्रदेश के चार महानगरों में मेट्रो का निर्माण कार्य जारी है, कानपुर व आगरा में नवम्बर तक मेट्रो का संचालन भी शुरू हो जाएगा।
इसके अलावा यूपी में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, गंगा एक्सप्रेस वे, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे और बलिया लिंक एक्सप्रेसवे, ऐसी आधुनिक और चौड़ी सड़कें बनाई जा रही हैं। इतना ही नहीं इसके अलावा यमुना और लखनऊ एक्सप्रेस-वे से पूर्वांचल और बुंदेलखंड हाईवे को भी जोड़ने प्लानिंग है।

सरकारी नौकरी में पारदर्शिता –
सरकार नौकरी के मामले में हमने कार्यकलाप को पारदर्शी बनाया है -हमारी सरकार ने चेहरा देख कर नौकरी नहीं दी, योग्यता के आधार पर चयन किया गया। पिछली सरकारों में पूरा खानदान भर्ती में वसूली के लिए निकल पड़ता था।पारदर्शिता के साथ योग्य लोगों को – 4.5 लाख से अधिक सरकारी नौकरियां दी गईं हैं ।
इसके साथ ही ट्रान्स्फ़र पोस्टिंग उद्योग के सिस्टम को हमारी सरकार ने ख़त्म किया ।

आर्थिक मोर्चे पर भी उत्तर प्रदेश सरकार अव्वल
.यूपी में प्रतिव्यक्ति आय दोगुनी से अधिक हो चुकि है । ।
.यूपी में निवेश के लिए अनुकूल वातावरण है सकारात्मक माहौल है ।
.रोजगार की संभावनाओं को काफ़ी आगे बढ़ाया गया है ।
.अब तक प्रदेश तीन लाख करोड़ से अधिक का निवेश हुआ है ।
.इससे 33 लाख रोज़गार के अवसर पैदा होंगे ।


राज्य का पर्सेप्शन बदला है –
2017 से पहले उत्तर प्रदेश को देश में रुकावट पैदा करने वाला प्रदेश समझा जाता था। आज नेक नीयत और ईमानदार नेतृत्व का नतीजा है कि प्रदेश, देश की बड़ी योजनाओं का नेतृत्व कर रहा है और बाक़ी राज्यों के लिए मार्गदर्शक (Guide) का काम कर रहा है ।

इस सरकार के कार्यकाल में यूपी में लगभग तीन करोड़ शौचालय बनाए, क़रीब 12 करोड़ लोगों को इसका लाभ मिला है आगे भी यें काम बिना रुके बिना थके चलता रहेगा। उत्तर प्रदेश में देश का सबसे बड़ा प्लाज्मा बैंक बना है। 1.41 करोड़ घरों को प्रदेश के अंदर नि:शुल्क बिजली कनेक्शन दिए गए। 1.67 करोड़ परिवारों को उज्ज्वला योजना के तहत नि:शुल्क गैस कनेक्शन दिए गए

राशन कार्ड –
पिछली सरकारों में गरीबों के पास उनके अपने राशन कार्ड नहीं थे, लेकिन आज हर गरीब के पास राशन कार्ड है और वह देश के अंदर कहीं भी राशन ले सकता है:

महिला सुरक्षा –
बहन और बेटियों की सुरक्षा हमारी सरकार की प्राथमिकता पर है-मातृशक्ति की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन किसी भी समाज का दर्पण होता है।और उत्तर प्रदेश में वो दर्पण चमक रहा है । महिला कल्याण की लिए ‘मिशन शक्ति’ अभियान प्रारंभ किया गया। थाना व तहसील में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की गई है । महिलाओं का सम्मान हमारी सरकार का इमान है ।महिलाओं के लिए Pink Bus Service”शुरू की गई ।इसमें सुरक्षा कर्मियों को भी लगाया गया है महिला कंडक्टर और बस में CCTV cameras भी लगाया गया है। अयोध्या और लखनऊ में फिल्म की शुटिंग भी शुरू हो गई हैं. इसके अलावा ग्रेटर नोएडा में फिल्म सिटी भी बनाने का काम तेजी से चल रहा है।

.अल्पसंख्यक समाज 53 लाख से ज्यादा छात्रों को स्कॉलरशिप दी गई हैं 2053 करोड़ रुपए की। बाकी 12 लाख से ज्यादा लोगो को “हुनर हाट” और “सीखो और कमाओ”, “नई मंजिल”, “गरीब नवाज स्वरोजगार योजना” एवं अन्य कौशल विकास योजनाओं के जरिए रोजगार और रोजगार के अवसर दिए गए हैं उनमें भी यूपी के लोगो को लाभ मिला है।मुस्लिम समुदाय के लिए केंद्र की सरकार ने राज्य में 3200 crore खर्च किया है। अयोध्या में दीपोत्सव का आयोजन हो या बरसाना में रंगोत्सव का आयोजन हो हमारी सरकार ने अपनी परंपरा से देश और दुनिया को परिचित कराया। हमारी सरकार में दशकों से लंबित आस्था के केंद्रों को सम्मान दिया जा रहा है

मुरादाबाद ज़िले की उपलब्धियाँ

मुरादाबाद ज़िले में भी किसानों को योगी जी की सरकार के आने के बाद काफ़ी लाभ हुआ है ।
पारदर्शी किसान योजना के द्वारा 99874 किसानों के खाते में 23.36 crore की धनराशि DBT के माध्यम से भेजी गई । ऋण माफी योजना के अंतर्गत लगभग 60 हजार किसानों को ₹327 crore की धनराशि माफ़ की गई। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के द्वारा 98000 से ज्यादा किसानों को लाभ दिया गया है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के अंतर्गत लगभग 267000 से ज्यादा किसानों को 400 करोड रुपए की धनराशि देकर लाभान्वित किया गया है । 324 सोलर इरिगेशन पंपों की भी स्थापना की गई है। गन्ना मूल्य भुगतान के अंतर्गत 1लाख 7हज़ार किसानों को लगभग ₹4081 करोड़ का भुगतान किया गया है।

मुरादाबाद के किसानों से 3.21 लाख Metric टन धान और 2लाख 37 हज़ार लाख Metric टन गेहूं समर्थन मूल्य पर खरीदा गया है। सौभाग्य योजना के अंतर्गत 1 लाख 27 हजार के करीब लोगों को निशुल्क विद्युत कनेक्शन जारी किए गए हैं। उजाला योजना के तहत 56 हज़ार एलईडी बल्ब निशुल्क वितरित किए गए हैं ।खास बात यह है कि इसका लाभ लेने वालों में अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों की संख्या 56 फ़ीसदी से भी ज्यादा है।

4252 भू माफिया के ख़िलाफ़ करवाई की गई है ,और अवैध ज़मीन उनके क़ब्ज़े से मुक्त कराई गई है । मुरादाबाद जनपद में 75,500 अल्पसंख्यक छात्र छात्राओं को 47 करोड़ के आसपास छात्रवृत्ति दी गई है।अल्पसंख्यक वर्ग शादी अनुदान योजना के अंतर्गत 6000 लाभार्थियों को लगभग ₹12crore का अनुदान दिया गया है।

कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत 9000 बालिकाओं को लाभ मिला है ।निराश्रित महिला पेंशन योजनाओं के अंतर्गत 46 हज़ार लाभार्थियों को ₹500 प्रतिमाह की दर से पेंशन मिला है। दिव्यांग पैशन योजना के तहत 12745 लोगों को पेन्शन का लाभ मिला है ।

आयुष्मान भारत योजना के तहत – तीन लाख लोगों का उपचार हुआ है। 3 लाख 12हज़ार 933 लोगों का आयुष्मान गोल्डन कार्ड ज़िले में बने हैं। जननी सुरक्षा योजना के तहत -1 लाख से अधिक संस्थागत प्रसव कराए गए है – जो मातृशक्ति की दिशा में बहुत बड़ी उपलब्धि है । स्वच्छ भारत के तहत – 560 सामुदायिक शौचालय बनाए गए हैं । 450 पंचायत भवन का निर्माण हुआ है । 1 लाख 80 हज़ार के क़रीब शौचालय लोगों के घरों में बने हैं ।

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जनपद में लगभग 12 हज़ार आवास बने हैं जिसमें अल्पसंख्यक वर्ग का हिस्सा पचास फ़ीसदी है। प्रेस वार्ता में जिलाधिकारी शैलेंद्र सिंह पुलिस अधीक्षक , जिला मीडिया प्रभारी संजय ढाका एवम छेत्रिय आई टी सयोजक भुदेव उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments