जब तक जातीय भेदभाव वाली विचारधारा देश में रहेगी तब तक बहुजन समाज के लोग विकास से कोसो दूर रहेंगे : लक्ष्य

हरदोई। लक्ष्य की हरदोई टीम ने एक भीम चर्चा का आयोजन हरदोई के गांव हिन्दू खेड़ा में किया जिसमें गांव के लोगों ने विशेषतौर से महिलाओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। यहाँ यह बता दें कि लक्ष्य की टीम प्रदेश में सामाजिक परिवर्तन की लहर को मजबूती प्रदान करने के लिए निरंतर उत्तर प्रदेश के गांव गांव में जा रही है। 

आज भी देश में बहुजन समाज के लोगों की आर्थिक व सामाजिक स्थिति दयनीय बनी हुई है, जहाँ आज भी जातीय उत्पीड़न का बोलबाला है, कही से कोई इनके हको के लिए आवाज नहीं आती है।  इसके लिए भेदभाव वाली विचारधारा वाले लोग तो जिम्मेदार है ही लेकिन हमारी सहभागिता भी कम नहीं है क्योंकि हम लोग खामोशी के साथ शोषण को सहन करते रहते है। जैसा कि बाबा साहब ने भी कहा था कि शोषण करने वाले  से ज्यादा जिम्मेदार उसको सहन करने वाले होते है। यह बात लक्ष्य कमांडरों ने भीम चर्चा के दौरान कही। 

लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि इस दुर्दशा का सबसे बड़ा मुख्य कारण है बहुजन समाज का स्वार्थी नेता जो कभी भी बहुजन समाज के अधिकारों के लिए अपनी जुबान नहीं खोलता है। ऐसे नेताओं से बहुजन समाज के लोगों को बचना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि जब तक जातीय भेदभाव वाली विचारधारा देश में रहेगी तब तक बहुजन समाज के लोग विकास से कोसो दूर रहेंगे और इस विचारधारा से टकराने के लिए बहुजन समाज के लोगों को स्वयं ही खड़ा होना होगा। 

इस कैडर कैंप  लखनऊ से आई लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या, विमलेश चौधरी, सुमन बौद्ध, कंचन नैना, रूचि भारती, सुधा गौतम, रुक्मणी देवी, सुधा, विमला देवी, कमला देवी, सुशीला देवी, रेशमा देवी, निहारिका गौतम, किरन, मालती, ममता, माहेश्वरी देवी, सबिता देवी, लक्ष्य युथ कमांडर कुलदीप बौद्ध राहुल बौद्ध, राम भजन, अमित कुमार, खंजन लाल, नन्द राम, आशीष कुमार, भगौती प्रसाद, जितेंद्र कुमार, नरेश कुमार, सुनील कुमार व लक्ष्य के सलाहकार एम एल आर्या जी ने हिस्सा लिया। 

Post a Comment

0 Comments