केरल सरकार ने एक नवंबर से विद्यालयों को खोलने का किया फैसला

नई दिल्ली। केरल सरकार ने कोविड-19 के कारण पिछले साल मार्च से बंद विद्यालयों को एक नवंबर से फिर से खोलने का फैसला किया। मुख्यमंत्री पिनराई विजयन की अध्यक्षता में कोविड-19 की स्थिति के आकलन के लिए बैठक में यह निर्णय किया गया।  '' मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को विद्यालयों को फिर से खोलने के लिए जरूरी इंतजामों को कम से कम 15 दिन पहले पूरा करने का निर्देश दिया है। पहली कक्षा से सातवीं (प्राथमिक खंड) और 10वीं तथा 12वीं की कक्षाएं एक नवंबर से शुरू होंगी। अन्य सभी कक्षाएं 15 नवंबर से शुरू होंगी।

विजयन ने कहा कि विशेषज्ञों की राय है कि पहले प्राथमिक कक्षाएं शुरू की जानी चाहिए। विज्ञप्ति में कहा गया है, ''विद्यालयों को फिर से खोलने के संबंध में शिक्षा विभाग और स्वास्थ्य विभाग को संयुक्त रूप से आवश्यक उपाय करने चाहिए। कम प्रतिरक्षा वाले बच्चों को कक्षाओं में आने की आवश्यकता नहीं है। छात्रों को विद्यालयों में लाने-ले जाने के संबंध में विशेष निर्देश दिए जाएं।
मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग को निर्देश दिया कि बच्चों के लिए विशेष मास्क तैयार कर उनका स्टॉक किया जाए। इसके अलावा, 18 अक्टूबर से कॉलेज फिर से खोल दिये जाएंगे। बैठक में उन स्थानों पर भी लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया गया जहां साप्ताहिक संक्रमण दर 10 प्रतिशत से अधिक है।
 '' राज्य में 90 प्रतिशत आबादी को टीके की पहली खुराक मिलने के बाद, निजी प्रयोगशालाओं में एंटीजन परीक्षण बंद कर दिया जाएगा। उसके बाद एंटीजेन परीक्षण आपात स्थिति के मामले में केवल सरकारी या निजी अस्पताल में डॉक्टरों के निर्देशानुसार किये जाएंगे।\ राज्य सरकार ने 65 वर्ष से अधिक आयु के उन लोगों की पहचान करने के लिए विशेष अभियान चलाने का भी निर्णय लिया है, जिनका अब तक टीकाकरण नहीं हुआ है।

Post a Comment

0 Comments