बिना हेलमेट या सीट बेल्ट के गुजरे तो खैर नहीं...

बरेली। यातायात नियमों का पालन न करने पर टोकने की परंपरा अब खत्म होगी। मतलब यह है कि यदि आप हेलमेट और बगैर सीट बेल्ट के गाड़ी चला रहे हैं तो आपको रास्ते में अब ट्रैफिक पुलिसकर्मी नहीं रोकेंगे। अब बगैर ट्रैफिक पुलिसकर्मी के ही नियमों के उल्लंघन पर आपकी फोटो खींच जाएगी और चालान आपके घर पहुंच जाएगा। स्मार्ट सिटी के तहत 163 करोड़ रुपये की लागत से शहर के 21 चौराहे को इंटीग्रेटेड कमांड सेंटर से जोड़ा जा रहा है। अक्टूबर में छह चौराहे पर यह व्यवस्था लागू भी हो जाएगी।

एसपी ट्रैफिक राम मोहन सिंह ने बताया कि एटीसीएस (एडाप्टिव ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम) व आइटीएमएस (इंट्रीगेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम) से शहर के 21 चौराहों को जोड़ा जाना है। आठ चौराहे एटीसीएस तथा 13 चौराहे आइटीएमएस सिस्टम से जुड़ेंगे। स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट के तहत इस व्यवस्था के बाद शहर में यातायात नियमों का पालन कराना काफी आसान होगा। चालान सीधे संबंधित के घर पहुंच जाएगा। पूरी व्यवस्था की देख-रेख के लिए नगर निगम के तृतीय तल पर कमांड सेंटर बनेगा। यहीं से पूरी व्यवस्था की देखरेख होगी। ट्रैफिक कर्मी भी कमांड सेंटर में तैनात किये जाएंगे।

यह हैं 21 चौराहे

पटेल चौक, चौकी चौराहा, डेलापीर तिराहा, सौ फुटा तिराहा, सेलेक्शन प्वाइंट, ईंट पजाया चौराहा, मिनी बाइपास, बीसलपुर चौक, सूद धर्मकांटा चौराहा, बरेली कालेज गेट, सर्किट हाउस चौराहा, शील चौराहा, इज्जतनगर स्टेशन रोड, कोहाड़ापीर तिराहा, मालियों की पुलिया तिराहा, परसाखेड़ा बाईपास तिराहा, गांधी उद्यान चौराहा, डोहरा मोड चौराहा, कारगिल चौक कैंट, चौपुला चौराहा व सैटेलाइट बस स्टैंड 21 चौराहों में शामिल हैं। पटेल चौक, चौकी चौराहा, डेलापीर तिराहा, सौ फुटा तिराहा, सेलेक्शन प्वाइंट, ईंट पजाया चौराहा, मिनी बाईपास, बीसलपुर चौक को एटीसीएस व्यवस्था से जोड़ा जाएगा जबकि शेष को आइटीएमएस व्यवस्था से।

Post a Comment

0 Comments