बॉलिवुड में टिकना है मोटी चमड़ी का बनना पड़ेगा: ईशा देओल

हेमा मालिनी और धर्मेंद्र की बेटी ईशा देओल ने 10 साल के लंबे गैप के बाद बॉलिवुड में वापसी कर ली हैं। ईशा ने वापसी के बाद कहा, बॉलिवुड में टिकना है मोटी चमड़ी का बनना पड़ेगा। ईशा देओल ने इस बात का भी जिक्र किया है कि वह अपने पति भरत तख्तानी के साथ मिलकर फिल्म प्रोड्यूसर करने की भी इच्छुक हैं। ईशा देओल कहती हैं, वह दोबारा से कैमरा फेस के लिए सुपर एक्साइटेड हैं।

ईशा देओल आखिरी बार साल 2011 की फिल्म 'टेल मी ओ खुदा' में नजर आई थीं। ईशा की फिल्म को उनकी मां हेमा मालिनी ने निर्देशित किया था। उसके बाद ईशा ने फिल्मों से दूरी बना ली। जब ईशा से पूछा गया कि 10 साल के लंबे समय के बाद वापसी करने के लिए प्रेरणा कहां से मिली?

ईशा कहती हैं, 'क्रिएटिव लोगों को ज्यादा देर तक घर में नहीं रखा जा सकता। ऐक्टिंग एक ऐसी चीज है जो मुझे आगे बढ़ाती है। मैंने 2011 में बॉलिवुड से दूरी बना ली थी क्योंकि उस वक्त फैमिली पर ध्यान देना मेरे लिए सबसे ज्यादा जरूरी था। मैंने अपनी जिंदगी में हर दौर का आनंद लिया। जब मैं काम कर रही था, मेरे पास डेट करने का समय नहीं था। भरत से शादी करने के बाद ही मुझे प्यार का एहसास हुआ। नहीं तो मैं तो बस एक मकबरा था। मेरे को-स्टार्स मेरे हाथों का मजाक उड़ाते थे।'

भरत जब से मेरी जिंदगी में आए उन्होंने मुझे पूरी तरह से बदल दिया। हमने शादी से पहले एक साल तक डेट किया। जब भरत मेरी जिंदगी में आए तो मैंने एक लड़की की तरह अच्छे कपड़े पहने, स्टिलेटोस पहनने और रोमांटिक डिनर के लिए बाहर जाने लगी। यह भरत ही थे जिन्होंने मुझे इन सब के लिए डायरेक्शन दिया। वह मुझे मेरे स्कूल और कॉलेज के दिनों से जानते हैं, इसलिए हमारे बीच अच्छी समझ थी। पिछले 10 साल जादुई रहे हैं। शुक्र है कि मैं आज अच्छी स्थिति में हूं और मुझे ढ़ेर सारे काम के ऑफर्स मिल रहे हैं। मुझे लगा कि कैमरे के सामने वापस आने का यह सही समय है, क्योंकि सेट मुझे घर जैसा लगता है, और मुझे वहां अच्छा लगता है।

ईशा आगे कहती हैं, जब मैंनेफिल्म इंडस्ट्री में शुरुआत की थी तब मैं बहुत छोटी थी। एक चीज जो मैंने सीखी है वह यह है कि शोबिज में बने रहने के लिए आपको मोटी चमड़ी वाला होना चाहिए। यदि आप हिंदी फिल्म इंडस्ट्री से हैं, तो आपकी पहली फिल्म से ही आपकी तुलना आपके माता-पिता से की जाएगी। यह उतना आसान नहीं है, जितना बताया जा रहा है। हर कोई अपने संघर्ष से गुजरता है। अपने तरीके से, मैंने इससे निपटा है। महत्वपूर्ण बात यह है कि हर कोई अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करता है। बिना मेहनत के जिंदगी का मजा नहीं है।

Post a Comment

0 Comments