देश के लिए हमेशा कुर्बानी देने को मुसलमान तैयार है : शाही इमाम

लुधियाना। आज यहां फील्ड गंज चौक स्थित ऐतिहासिक जामा मस्जिद समेत शहर की अन्य सभी मस्जिदों में ईद उल अजहा (बकरीद) की नमाज अदा की गई।

इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशू, लोकसभा सदस्य स. रवनीत सिंह बिट्टू, मेयर बलकार संधू, गुरुद्वारा दुख निवारण साहिब के प्रधान सरदार प्रितपाल सिंह, विधायक सुरिंदर डावर, राकेश पाण्डे, संजय तलवार, कुलदीप सिंह वैद, पूर्व कैबिनेट मंत्री हीरा सिंह गाबडिय़ा, पार्षद ममता आशू, पूर्व मेयर हरचरण सिंह गोहलवडिय़ा, परमिंदर मेहता, पार्षद राकेश पराशर ने बधाई संदेश भेजा। 

00

ईद के अवसर पर संबोधन करते हुए शाही इमाम पंजाब मौलाना हबीब उर रहमान सानी लुधियानवी ने कहा कि आज का दिन हम अल्लाह के प्यारे नबी हजऱत इब्राहीम अलहिस्सलाम की याद में मनाते हैं जिन्होंने इंसानों को यह सबक दिया कि अगर वक़्त आए तो अपनी जान से प्यारी चीज भी अल्लाह की राह में कुर्बान करने से ना घबराओ। शाही इमाम मौलाना हबीब उर रहमान लुधियानवी ने कहा कि दीन-ए-इस्लाम की इसी प्रेरणा से भारत के मुसलमानों ने देश को आज़ाद करवाने के लिए अंग्रेजों से टक्कर लेते हुए हजारों कुर्बानियां दी थी। उन्होंने कहा कि आज भी अगर देश को जरूरत पड़ी तो मुसलमान कुर्बानी देने को तैयार है। शाही इमाम ने कहा कि आज का दिन बरकत और रहमत वाला है, दुआ कबूल होती है और अल्लाह का हुक्म है कि ईद के दिन गरीबों और जरुरतमंदों की मदद की जाए। शाही इमाम ने नमाजियों से कहा कि आज ईद के दिन इस बात का ख्याल रखा जाए कि कोई भी पड़ोसी चाहे वह किसी भी धर्म का हो भूखा ना रहे।

इस अवसर पर नायब शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उस्मान रहमानी लुधियानवी ने कहा कि इस्लाम के पर्व इबादत और नेकी की राह दिखाते हैं हम साल भर रोजाना पांच नमाज अदा करते हैं और ईद के दिन छ: नमाजे अदा करते है। उस्मान लुधियानवी ने कहा कि कुर्बानी के इस दिन हम सब इस संकल्प को दोहराते हैं कि अगर देश और कौम को जरुरत पड़ी तो हम पीछे नहीं रहेंगे। वर्णनयोग है कि कोविड-19 की वजह से सावधानी बरतते हुए बड़ी संख्या में नमाजियों को एकत्रित करने की बजाय 200-200 लोगों को नमाज कई बार अदा करवाई गई। इस अवसर पर लुधियाना पुलिस की ओर से सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए और एसीपी सेन्ट्रल सरदार वरियाम सिंह विशेष तौर पर उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments