एसटीएफ ने नकली डॉ गैस सीरप बेचने वाले को किया गिरफ्तार

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने नकली डॉ गैस सीरप ऊंचे दाम पर बेचकर लाभ अर्जित करने वाले गिरोह के सक्रिय सदस्य कुशाल अग्रवाल लखनऊ के अमीनाबाद इलाके से गिरफ्तार कर लिया।
एसटीएफ ने बताया कि क्रेडिट लाइफ साइन्स प्रा लि  की विख्यात दवा डॉ गैस सीरप का एप्पल फार्मुलेशन के डायरेक्टरों के साथ मिलकर नकली प्रतिरूप तैयार कर लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों में ऊंचे दामों पर बेचकर मोटा लाभ अर्जित करने वाले गैंग के सक्रिय सदस्य कुशाल अग्रवाल को कल रात करीब पौने आठ बजे बाबी ड्रग हाउस अमीनाबाद इलाके से गिरफ्तार कर लिया।

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार लखनऊ निवासी कुशाल अग्रवाल के कब्जे से 1838 डुप्लीकेट डा0 गैस सीरप के अलावा अन्य सामान और कुछ नकदी बरामद की गई। उन्होंने बताया कि क्रेडिट लाइफ साइन्स प्रालि के कुंवर हरैया बस्ती निवासी प्रभात हरेन्द्र सिंह के शिकायती प्रार्थना पत्र एसटीएफ ने यह कार्रवाई की।
इसी क्रम में एसटीएफ ने आवेदक प्रभात हरेन्द्र सिंह से सम्पर्क करके उनको व कम्पनी के निदेशक का कार्य देख रहे रकाश सिंह को अपने कार्यालय बुलाया था। श्री प्रकाश सिंह ने बताया गया कि मैं और मेरा भाई क्रेडिट लाइफ साइन्स कंपनी के निदेशक के तौर पर कार्य कर रहे हैं। प्रभात हरेन्द्र सिंह के नाम परडा0 गैस व्यापार चिन्ह रजिस्टर्ड है, जो ट्रेडमार्क रजिस्टार के क्लास-5 दवा से सम्बन्धित है। इसका कारोबार करीब 10 वर्ष से हम
दोनों भाई कर रहे हैं। डा0 गैस मेरे पिता हरेन्द्र सिंह के द्वारा वर्ष 2009 में रजिस्टर्ड कराया गया था। डा0 गैस सीरप को हम लोग याका कम्पनी से बनवाते हैं लेकिन विगत कुछ माह से डा0गैस का नकली माल कृष्णा फार्मा ट्रांसपोर्ट लखनऊ के प्रोपाइटर कुशाल अग्रवाल द्वारा पूरे उत्तर प्रदेश में बेचा जा रहा है।
उन्होंने बताया कि जानकारी के क्रम में आरोपी कुशाल अग्रवाल को भी एसटीएफ कार्यालय बुलाया था। उसने बताया कि वह गोण्डा निवासी हिमांशु सोनी के माध्यम से नकली डा0 गैस सीरप तैयार कराता है और अपनी फर्म के नाम से मंगवाता है। उसे यह सीरप असली सीरप से कम दाम में मिलती है और ज्यादा मुनाफा होता है। इस सिलसिले में विधिक कार्रवाई स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।

Post a Comment

0 Comments