महिला थाने में दर्ज हुआ अब तक के इतिहास में सबसे अधिक धाराओं में मुकदमा

मुरादाबाद। जनपद मुरादाबाद में महिला थाने की स्थापना वर्ष 1994 में हुई थी और पहली महिला थाना प्रभारी निरीक्षक बनने का गौरव प्राप्त हुआ था। शकुंतला देवी को तब से आज तक के इतिहास में संभवत पहली बार 13 धाराओं में यह पहला मुकदमा दर्ज हुआ है।

थाना मझोला क्षेत्र के मोहल्ला बौद्ध विहार (बुद्धि विहार) निवासी चांदनी पुत्री राधेश्याम की शादी बड़ी धूमधाम से मुरादाबाद के एक प्रतिष्ठित वेंकट हॉल में दिनांक 25.11. 2020 को दिल्ली निवासी आकाश पुत्र शंकरलाल के साथ हुई थी। चांदनी के पिता उत्तर प्रदेश परिवहन निगम मुरादाबाद में वरिष्ठ केंद्र प्रभारी के पद से वर्ष 2018 में सेवानिवृत्त हो चुके हैं।

चांदनी के ससुराल पक्ष के लोगों ने चांदनी की मेहंदी सूखने के बाद से ही चांदनी पर जुल्म और अत्याचार करने शुरू कर दिए थे, काफी समझाने व प्रयास करने पर भी वह नहीं माने तो विवश होकर चांदी ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के समक्ष उपस्थित होकर अपनी व्यथा सुनाई वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आदेश पर महिला थाने में महिला थाना प्रभारी ने मु0अ0 सं0- 132/2021 धारा 420, 498A, 323, 313, 504, 506, 307, 342, 354, 376, 511 आईपीसी एवं 3/4 डीपी एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Post a Comment

0 Comments