डा श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने राष्ट्र की एकता के लिए जीवन बलिदान कर दिया : स्वतंत्र देव सिंह

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने डा0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जंयती पर मंगलवार को श्रद्धासुमन अर्पित किये। सिंह ने डा0 मुखर्जी की जयंती पर पुष्पाजंलि अर्पित करते हुए कहा कि डा0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने राष्ट्र की एकता के लिए जीवन बलिदान कर दिया। डा0 मुखर्जी ने देश की अखण्डता के लिए मंत्री पद ठुकराया और जनसंघ की नींव रखकर राष्ट्रवाद का मार्ग चुना। 

उन्होंने एक देश में दो विधान, दो प्रधान व दो निशान का प्रतिकार करके कश्मीर में लागू तत्कालीन परमिट व्यवस्था को नकारकर कश्मीर में प्रवेश किया। डा0 मुखर्जी की गिरफ्तारी हुई, उन्हें यातनांए दी गई और देश की अखण्डता के लिए देश में पहला वलिदान हुआ। पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता तभी से जहां हुए वलिदान मुखर्जी वह कश्मीर हमारा है के संकल्प को मजबूत करते रहे। सात दशक का लम्बा समय व्यतीत हुआ।

तब कहीं जाकर वह समय आया जब देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह के अदम्य साहसिक निर्णय से जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 व 35ए समाप्त हुआ और कश्मीर पूर्ण रूप से भारत का अंग बना है। 370 की समाप्ति के साथ ही डा0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी का स्वप्न साकार हुआ और उसके साथ ही पार्टी कार्यकर्ताओं व करोड़ो देशवासियों का स्वप्न भी साकार हुआ। श्री सिंह ने कहा कि जो ‘‘कश्मीर हमारा-वह सारा का सारा है’’ के संकल्प के साथ अब पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता ध्येय पथ पर है।

Post a Comment

0 Comments