अखिलेश पर ओवैसी का हमला, कहा- 5 सीटें ही मिली, क्या बाकी सदस्य भाजपा की गोद में बैठ गए?

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने समाजवादी पार्टी (सपा) का रिकॉर्ड तोड़ते हुए प्रचंड जीत हासिल की है। यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी को मिली इस रिकॉर्ड सफलता को लेकर राजनीतिक चर्चाओं का बाजार गर्म है. दरअसल, इस चुनाव में सबसे बड़ा झटका अखिलेश यादव की पार्टी सपा को लगा है.

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर समाजवादी पार्टी का नाम लिए बगैर उस पर बड़ा हमला बोला है.

ओवैसी ने ट्वीट करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के 19 प्रतिशत आबादी वाले मुसलामानों का एक भी जिला अध्यक्ष नहीं है. मंसूबा बंद तरीके से हमें सियासी, रोजगार और समाजिक तौर पर दूसरे दर्जे का शहरी बना दिया गया है. अपने एक अन्य ट्वीट में ओवैसी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की एक सियासी पार्टी खुद को भाजपा का सबसे प्रमुख विपक्षी दल बताती है. जिला पंचायत के चुनाव में उनके 800 सदस्यों ने जीत दर्ज की थी, लेकिन अध्यक्ष के चुनाव में मात्र 5 अध्यक्ष की सीटों पर उनकी जीत हुई है ऐसा क्यों? क्या बाकी सदस्य भाजपा के गोद में बैठ गए हैं?


 

Post a Comment

0 Comments