12 साल के बच्चे से आटा चक्की पर कराई जा रही थी बाल मजदूरी, किया गया रेस्क्यू

नई दिल्ली। दिल्ली के दयालपुर इलाके में एक 12 साल के बच्चे से आटा चक्की की दुकान पर काम कराया जा रहा था. दिल्ली महिला आयोग ने इस बच्चे को रेस्क्यू कराया है। मामले पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि यह कितना दुखद है कि बच्चों को खिलौनों से खेलने की उम्र में बाल श्रम करने के लिए मजबूर किया जाता है.

स्वाति मालीवाल ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि जब हम मिल पहुंचे तो देखा कि बच्चा एक कमरे में टेबल के नीचे छिपा हुआ था और उसे झूठ बोलने के लिए कहा गया. बच्चा बहुत हैरान और घबराया हुआ था। दिल्ली महिला आयोग की मुस्तैदी से इस बच्चे का भविष्य खराब होने से बच गया।

महिला आयोग की अध्यक्षा ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि पुलिस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर सख्त कार्रवाई करेगी.

Post a Comment

0 Comments