Wednesday, 9 June 2021

लॉकडाउन में रेत माफिया बेखौफ, नदी में बालू का अवैध उत्खनन

लॉकडाउन में रेत माफिया बेखौफ, नदी में बालू का अवैध उत्खनन
     सूरजपुर (डीवीएनए)। लॉकडाउन में रेत माफिया की चांदी कट रही है। शासन प्रशासन लोगों को सोशल डिस्टेंस एवं लॉकडाउन के नियमों को पालन कराने में कोरोना कर्मी डटे हुए हैं। वहीं दूसरी तरफ रेत  माफिया क्षेत्र के विभिन्न बालू घाटों से अवैध उत्खनन में लगे हुए हैं। प्रशासन के लाख सख्ती के बावजूद भी क्षेत्र के बदुआ व लोहागढ़ नदी से अवैध रेत का उत्खनन थमने का नाम नहीं ले रहा है। सूरजपुर नगर से लगे रेड़ नदी हो या फिर सुतिया व गोबरी नाला हो प्रतिदिन यहां से सैकड़ों ट्रैक्टर रेत का उत्खनन व परिवहन किया जा रहा है  सहित अन्य बालू घाटों से धड़ल्ले से रेत का खनन हो रहा है। वहीं जिले के रामानुजनगर प्रेमनगर प्रतापपुर या फिर सूरजपुर का इलाका हो सभी जगह स्थित नदी नालो से अवैध बालू का कारोबार तेजी से फैल रहा है। जिसपर पुलिस प्रशासन अंकुश लगाने में विफल साबित हो रहे हैं। इनमें से कुछ जगहों पर रेत माफिया पुलिस की रैकी कर अपने धंधे को आगे बढ़ाते हैं। कई जगह तो कुछ पुलिस पदाधिकारी व चैकीदारों की संलिप्ता से यह गोरख धंधे का खेल बदस्तूर जारी है। वहीं कई स्थानों पर तो नदी से बालू नहीं मिलने पर माफियाओं द्वारा नदी के सुरक्षा तटबंध को काटकर अपनी जेब भरने में लगे हुए हैं।

ओवरलोडिंग से होती हैं दुर्घटनाएं
ग्रामीणों ने बताया कि कई बार तो रेत व से भरी टैक्टर ट्रालियां ओवरलोड होने की वजह से सड़क किनारे पलट चुकी हैं। अक्सर रेत भरी ट्राली पंचर होकर या फिर बैरिंग टूटने की वजह से बीच सडक में लापरवाही पूर्वक खड़े कर दिए जाते हैं, जिनसे दुर्घटना की आशंका बनी रहती हैं।

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: