Saturday, 5 June 2021

वसीम रिजवी पर सख्त कार्रवाई की मांग को लेकर प्रधानमंत्री को लिखा खत

गोरखपुर-डीवीएनए। शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड उप्र के सदस्य वसीम रिजवी की गैर जिम्मेदाराना हरकतों की वजह से मुस्लिम समाज में रोष है। शुक्रवार को मुस्लिम समाज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर वसीम रिजवी की गिरफ्तारी कर सख्त कार्रवाई करने की मांग की।

खत में लिखा कि वसीम रिजवी समाज में नफरत फैला रहे हैं। सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए आये दिन नई-नई चाल व योजनाएं बना रहे हैं। तथ्यविहीन व दूषित मानसिकता वाला बयान दे रहे हैं। कुरआन शरीफ, सहाबा, मदरसा व मुसलमानों पर गैर जिम्मेदाराना बयान दे रहे हैं। उन्हें मानसिक इलाज की सख्त जरूरत है। अभी हाल ही में कुरआन से पवित्र 26 आयतें निकालवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में जलील होकर मुंह की खा चुके हैं। वहीं 29 मई 2021 को वसीम रिजवी ने एक बार फिर कुरआन की पवित्र 26 आयतों के खिलाफ वीडियो जारी किया। कुरआन से पवित्र 26 आयत निकालकर एक खत के साथ प्रधानमंत्री के पास भेजा और मदरसों में पढ़ाये जाने की बात कही। जो मुस्लिम समाज को सख्त नामंजूर है।

मुस्लिम समाज ने प्रधानमंत्री से मांग करते हुए कहा कि वसीम रिजवी को तत्काल प्रभाव से गिरफ्तार कर देशद्रोह के तहत मुकदमा पंजीकृत किया जाए। ताकि देश में सौहार्द व शांति का माहौल कायम रहे।

खत में आगे लिखा कि इस्लाम धर्म के अंतिम पैगंबर हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम पर उतरने वाली मुक़द्दस किताब क़ुरआन शरीफ अल्लाह का कलाम है। इसमें बदलाव नामुमकिन है। क़ुरआन शरीफ से पूरी दुनिया के लोग हिदायत व रहनुमाई हासिल कर रहे हैं। मुसलमानों का क़ुरआन शरीफ के एक-एक हर्फ व एक-एक नुक्ते पर पूरा ईमान है। इस्लाम धर्म के चारों खलीफा मुसलमानों के सर का ताज व रहनुमा हैं। मुसलमान उनकी शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं कर सकते।

खत भेजने वालों में अरशद आलम, सद्दाम हुसैन, सफर हुसैन, अमीनुद्दीन, सैयद नदीम, सैयद हुसैन, शादाब अहमद, यासीन खान, मौलाना इसहाक, हाफिज अब्दुर्रहमान, अशरफ आदि शामिल हैं।

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: