पुलिस विभाग में बड़ा फर्जीवाड़ा, 5 साल से सिपाही जीजा की जगह नौकरी कर रहा था साला

मुरादाबाद।  मुरादाबाद में पुलिस विभाग में पिछले 5 साल से जीजा की जगह साले द्वारा नोकरी करने का मामला सामने आया है। जीजा अनिल की अध्यापक की नोकरी लगने के बाद, साला सुनील के स्थान पर पीआरवी 0281 पर कांस्टेबल बनकर नोकरी कर रहा था। 

ठाकुरद्वारा कोतवाली में जीजा साले के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने जीजा को गिरफ्तार कर लिया है, साला अभी फरार चल रहा है। 

अक्सर साले द्वारा अपने जीजा के लिए कुर्बान होने  के किस्से अक्सर आपने सुनने होंगे लेकिन मुरादाबाद में जीजा द्वारा अपनी नोकरी कुर्बानी देने का बहुत चोकाने वाला मामला सामने आया है। मुरादाबाद के पुलिस विभाग में कांस्टेबल पद पर तैनात अनिल कुमार ठाकुरद्वारा में पीआरवी 0281 पर तैनात था। 

कांस्टेबल अनिल कुमार का 2016 के बाद अध्यापक की नोकरी में चयन हो गया। अनिल कुमार ने अपनी सिपाही की नोकरी अपने साले सुनील उर्फ सनी को तोफे देकर चल गया। उंसके बाद लगतार पांच साल से सुनील उर्फ सनी अपने जीजा की जगह कांस्टेबल पद पर पीआरवी 0281 पर नोकरी कर रहा था। 

किसी रिश्तेदार के द्वारा शिकायत होने पर पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। जिसके बाद पुलिस ने जीजा अनिल कुमार को मुजफ्फरनगर से गिरफ्तार कर लिया है। साले सुनील को जीजा अनिल की गिरफ्तारी की सूचना मिलने के बाद से सुनील फरार हो गया है।

मुजफरनगर का रहने वाला है 2011 बेंच का सिपाही जीजा
अनिल कुमार मुजफ्फरनगर के खतौनी थाने के बहोड़ रहने वाला है और 2011 में पुलिस में भर्ती हुआ था. ट्रेनिग में चार बार फेल होने के बाद गोरखपुर में ट्रेनिग में पास हुआ था। जिसके बाद बरेली जनपद में पुलिस लाइन में तैनात रहा था। 2016 में मुरादाबाद अपना ट्रांसफर करवाने के बाद ही अनिल का चयन अध्यापक पद पर मुजफ्फरनगर में ही तैनाती हो गयी थी। उंसके बाद चोरी से विभाग में खेल करके अपने स्थान पर अपने साले सुनील को नोकरी ज्वाइन करवा दी। 2016 के बाद से सुनील उर्फ सनी कांस्टेबल पद पर नोकरी कर रहा था। वहीं साला सुनील कुमार भी मुज़फ्फरनगर के ही गांव गंघाडी खतौली का न‍िवासी है। 

एसपी देहात ने दी जानकारी
एसपी देहात विद्यासागर मिश्र ने बताया किकांस्टेबल अनिल की जगह साले सुनील द्वारा इस संबंध में जानकारी प्राप्त हुई थी, और ये जानकारी सही भी है। इस संबंध में जांच उपरांत वैधानिक कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। किस स्तर पर यह कमी रही उस संबंध में भी जांच की जाएगी. अनिल कुमार नाम के कॉन्स्टेबल है इनके स्थान पर अब तक जो जानकारी प्राप्त हुई है इनके साले हैं वह नौकरी कर रहे थे। इस सम्बंध में मुकदमा पंजीकृत करके वैधानिक कार्रवाई की जा रही है। इस संबंध में अनिल को गिरफ्तार कर से पूछताछ की जा रही है. साला सुनील अभी फरार है।

Post a Comment

0 Comments