सरकारी अव्यवस्था के अभाव में लाखों लोगों ने जिंदगी खो दी है: अजय कुमार लल्लू

 

लखनऊ-डीवीएनए उप्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने शुक्रवार को जारी बयान में कहा कि जिस उप्र में कोरोना महामारी ने हाहाकर मचा रखा है। जहां लाखों लोग बेघर हो गये, इस महामारी के शिकार हो गए। बेड, आक्सीजन और दवाई के अभाव में दम तोड़ दिया। बहुत सारे कई विधायकों ने, मंत्रियों ने इस संघर्ष के दौरान महामारी में दम तोड़ दिया, उनके परिजनों ने दम तोड़ दिया। केन्द्रीय मंत्रियों, उप्र सरकार के मंत्रियों ने सरकार की कारगुजारी पर बड़ा सवालिया निशान खड़ा किया है।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री प्रदेश के 18 मंडलों और 75 जनपदों के समीक्षा बैठक में गये थे। जो पहले दिन से काला चश्मा लगाया था उसी चश्मे के आधार पर अधिकारियों ने जनपदों की समीक्षा बैठकों में बताया कि सब ठीक ठाक है कहीं कोई दिक्कत नहीं है कहीं कोई कमी नहीं है खामियां नहीं है। लल्लू ने कहा कि मुख्यमंत्री अस्पतालों के निरीक्षण में गये। जिन अस्पतालों का निरीक्षण करके आये। पहले दिन तो चल रहा था उनके जाने के बाद तमाम अस्पतालों में ताले लटके नजर आये। मुख्यमंत्री का काला चश्मा अभी तक नहीं उतर पाया है और उसी काले चश्मे के आधार पर उप्र की जनता को यह बार बार कहते रहे कि सब ठीक ठाक है उप्र में कहीं कोई कमी नहीं है।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री की हवाईजहाज की यात्रा जनता के पैसे की बबार्दी है और मुख्यमंत्री का यह कहना कि सब ठीक ठाक है उनकी दूरदर्शिता पर एक सवालिया निशान खड़ा करता है।

Post a Comment

0 Comments