सीटी स्कैन के नाम पर महिला कर रही थी ठगी, पीड़िता पहुंची थाने

भोपाल। जयप्रकाश अस्पताल में गत दिवस एक ठगी का मामला सामने आया है। इसमें अस्पताल की एक महिला स्टाफ सीटी स्कैन के नाम पर एक मरीज से दो हजार रुपए की ठगी कर रही थी। जानकारी अनुसार कोलार सर्वधर्म में रहने वाली 38 वर्षीय महिला शीतल वाजपेयी ने हबीबगंज पुलिस स्टेशन में शिकायत की है कि वह 26 मई को जेपी अस्पताल पहुंची थी सीटी स्कैन कराने। यहां उसे एक महिला मिली, जिसने अपन नाम नेहा वाल्मकी बताया।

नेहा ने कहा कि वह अस्पताल की स्टाफ है और सीटी स्कैन जांच आसानी से करा देगी। शीतल ने नेहा की बात पर भरोसा कर लिया, सीटी स्कैन जांच के बदले में नेहा ने शीतल से दोह जार रुपए ले लिए और अगले दिन सुबह अस्पताल आने का बोला, 27 मई को जब शीतल जेपी अस्पताल पहुंची तो नेहा ने कहा कि अभी एक मरीज की जांच हो रही है, कुछ देर रुक जाओ फिर तुम्हारा नंबर आएगा। इसके साथ नेता ने शीतल से 900 रुपये और मांगे। इस पर शीतल ने पैसे देने से मना कर दिया और पहले दिए गए दो हजार रुपए की रसीद मांगी तो नेहा गोलमोल बातें करने लगी और वहां से भाग गई। इसके बाद शीतल ने पुलिस में शिकायती आवेदन दिया है। इस मामले की शिकायत पुलिस में ोने के बाद भी जयप्रकाश अस्पताल प्रबंधन अभी तक यह पता नहीं कर पाया है कि नेहा वाल्मीकि नाम की महिला स्टाफ कहां काम करती है। जबकि इस बारे में अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. राकेश श्रीवास्तव का कहना है कि नेहा वाल्मीकि हमारे अस्पताल की कर्मचारी नहीं है, यह जेपी अस्पताल परिसर में होम्पयोपैथी चिकित्सालय की स्टाफ है।  

Post a Comment

0 Comments