Saturday, 27 February 2021

पैसों की खातिर कर दि‍या दो दोस्तों की जिंदगी का अंत

अमरोहा। बुधवार को गजरौला में हुए दोहरे हत्याकांड का पुलि‍स ने पर्दाफाश कर दिया गया है। पुलिस ने शराब की दुकान के ठेकेदार, सेल्समैन व कैंटीन संचालक को गिरफ्तार कर लिया है। 

बता दें कि‍ 4 फरवरी को गजरौला थाना क्षेत्र के गांव मोहम्मदाबाद के पास स्थित जीरो प्वाइंट के पास शराब की दुकान से थोड़े फासले पर दो शव मिले थे। मृतकों की शिनाख्त रामनिवास निवासी गांव कासमाबाद थाना गजरौला तथा सुफियान निवासी गांव मोहम्मदाबाद के रूप में हुई थी। दोनों चालक थे तथा अच्छे दोस्त भी थे। दोहरे हत्याकांड से क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। 

पुलिस ने इस मामले में रामनिवास के पिता बालकरन की तहरीर पर शराब की दुकान के सेल्समैन सूरज निवासी बरखेड़ा थाना मंडी धनौरा हाल निवासी मुहल्ला कोट पूर्वी थाना हसनपुर के साथ ही वहां कैंटीन चलाने वाले गोविद निवासी गांव इस्माइलपुर थाना चांदपुर जनपद बिजनौर हाल निवासी गांव कासमाबाद थाना गजरौला व सुल्तान निवासी गांव अतरासी थाना रजबपुर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी।

एसपी ने घटना का पर्दाफाश करने के लिए चार टीम गठित की थीं। इस क्रम में शुक्रवार सुबह पुलिस ने सूरज व गोविद को कांकाठेर कट के पास गिरफ्तार कर लिया। इनकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त तबल व खून से सने कपड़े भी बरामद कर लिए। जबकि शुक्रवार दोपहर बाद पुलिस ने तीसरे आरोपित सुल्तान को भी गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने बताया कि तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। 

एसपी सुनीति ने बताया रामनिवास व सूफियान के कत्ल की वजह मामूली कहासुनी व उधार के पैसे का लेनदेन रही। 19 फरवरी को दुकान के सामने रामनिवास ने पेशाब कर दिया था। इस बात को लेकर सुल्तान से दोनों की कहासुनी हुई थी। रामनिवास व सुफियान ने मारपीट की। सुल्तान ने उधार खरीदी गई शराब के 1500 रुपये मांगे। 

इसी दौरान सेल्समैन सूरज ने रामनिवास का मोबाइल अपने पास रख लिया। 23 फरवरी की शाम भी दोनों शराब पीने वहां गए थे। कैंटीन संचालक गोविद से उधार नमकीन मांगी। इस पर विवाद हुआ तथा गोविद के साथ मारपीट की। इस पर सूरज व गोविद ने दोनों को पकड़ लिया तथा सुफियान के गले पर तबल से वार कर हत्या कर दी। बाद में रामनिवास का गला घोट दिया।

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: