Friday, 26 February 2021

करोड़ों रुपये के लालच में की गई थी दंपत्ति की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद में बीते 29 जून को ठाकुरद्वारा थाना छेत्र में हुए डबल मर्डर का बुधवार को पुलिस ने खुलासा करते हुए एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया है । आरोपी मृतक दम्पत्ति का रिश्तेदार है जिसने करोड़ो रूपये के लालच में डबल मर्डर जैसी घटना को अंजाम दे दिया । फिलहाल पुलिस ने जांच के बाद प्रकाश में आये अभियुक्त सुनील वर्मा को गिरफ्तार करते हुए जेल भेज दिया है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक डबल मर्डर मामले की विवेचना और गठित टीम द्वारा अथक प्रयास तथा संकलित किये गये साक्ष्यों के आधार पर कई महत्वपूर्ण तथ्य प्रकाश में आये। जिनके आधार पर घटना में अभियुक्त सुनील वर्मा पुत्र स्व0 चन्द्रपाल वर्मा निवासी ग्राम कासमपुर थाना जसपुर जिला उधमसिंहनगर का नाम प्रकाश में आया था।

पुलिस के मुताबिक मृतक प्रशान्त वर्मा द्वारा पूर्व में भेजे गए शिकायती पत्र जो जिलाधिकारी उधमसिंहनगर, जिलाधिकारी मुरादाबाद व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुरादाबाद को प्रेषित किया गया वह मृतक की अलमारी से बरामद हुआ। जिसमें स्पष्ट अंकित है कि यदि मेरी मेरी हत्या की जाती है। तो उसका जिम्मेदार सुनील वर्मा होगा। मृतक प्रशान्त वर्मा उर्फ मोहित वर्मा, स्व0 जगदीश शरण वर्मा का दत्तक पुत्र (गोद लिया हुआ) था। जिस कारण अभि0 सुनील वर्मा प्रशान्त वर्मा से रंजिश रखता था सुनील वर्मा को लगता था कि यदि प्रशान्त वर्मा दत्तक पुत्र न होता तो सारी सम्पत्ति जगदीश शरण वर्मा की मृत्यु के बाद मेरी होती। जदगीश शरण वर्मा के नाम 29 बीघा जमीन जसपुर क्षेत्र में थी जिसकी कीमत कई करोड रूपये है। जगदीश शरण की मृत्यु के उपरान्त ही सुनील वर्मा ने मा0 न्यायालय में आपत्ति दर्ज करा दी थी ताकि जमीन प्रशान्त वर्मा के नाम पर न आये।

वर्ष 2018 में सुनील वर्मा द्वारा प्रशान्त वर्मा से लोगो को यह दिखाने के लिए कि इस जमीन पर अब कोई विवाद नही है। यह समझौता किया गया तथा प्रशान्त वर्मा से मेल-जोल बढा लिया। माह फरवरी 2020 में उस जमीन का सौदा सुनील वर्मा द्वारा 2 करोड 11 लाख रूपये में ललित कुमार निवासी सुरजननगर को किया तथा मृतक प्रशान्त वर्मा को 84 लाख रूपये का बताया गया था । जबकि सुनील वर्मा द्वारा 77 लाख रूपये के चैक स्वंय ले लिये तथा 7 लाख रूपये मृतक प्रशान्त वर्मा को दे दिये गये। सुनील वर्मा प्रशान्त वर्मा को उस जमीन के पैसे नहीं देना चाहता था।

घटना वाले दिन 29 जून 2020 को प्रशान्त वर्मा व सुनील वर्मा की फोन पर वार्ता हुई थी जिसमें अधिक गुस्सा आने पर प्रशान्त वर्मा द्वारा अपना फोन जमीन पर पटककर तोडा जिसे बाद में ठीक कराया गया जिसकी पुष्टि दुकान वाले से की गयी। उसी दिन सुनील वर्मा एक छुरी लेकर प्रशान्त वर्मा के घर पर बातचीत करने के बहाने गया और बातचीत करते हुए चाय पी इसी दौरान प्रशान्त वर्मा टायलेट करने चला गया तभी सुनील वर्मा द्वारा मोना वर्मा का गला दबा कर हत्या कर दी गई । मोना वर्मा की आवाज सुनकर प्रशान्त वर्मा कमरे में आया तो सुनील वर्मा द्वारा उसे दरवाजे के पास ही पकड कर छुरी से गर्दन काट कर उसकी भी हत्या कर दी गयी।

एसपी देहात विद्या सागर मिश्र ने बताया कि 29 जून 2020 को ठाकुरद्वारा थाना क्षेत्र में पति पत्नी की हत्या की गई थी इस सम्बंध में अज्ञात के विरोध अभियोग पंजीकृत कर पुलिस ने जांच शुरू की थी विवेचना में प्रकाश में आये एक अभियुक्त सुनील वर्मा को आज गिरफ्तार किया गया है।

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: