कोरोना से निपटने के लिए छत्‍तीसगढ़ ने उठाया ये कदम

रायपुर। छत्तीसगढ़ में, कोरोना संक्रमित लोगों की पहचान के लिए दैनिक जांच की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसके लिए राज्य भर में 2225 केंद्र स्थापित किए गए हैं। इनमें से, 1019 केंद्रों में रैपिड एंटीजन टेस्ट सुविधा के साथ-साथ 660 केंद्रों में RTPCR और 546 केंद्रों में Tru-nat पद्धति कोविद -19 की जांच के लिए संदिग्ध रोगियों के नमूने एकत्र कर रही है।

स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने संक्रमित कोरोना की पहचान करने और उन्हें शीघ्र उपचार प्रदान करने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रतिदिन अधिक से अधिक नमूनों की जांच की जा रही है। इसके अलावा, राज्य भर में स्वास्थ्य सुरक्षा अभियान के तहत, घर पहुंचने के बाद, कोरोना लक्षणों वाले लोगों की पहचान और जांच की जा रही है।

कोरोना संक्रमण की जाँच के लिए रायपुर जिले में कुल 174 केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से 57 केंद्रों में एंटीजन टेस्ट की सुविधा है। वहीं, आरटीपीसीआर जांच के लिए 58 और सच-प्रकृति जांच के लिए 59 सैंपल कलेक्शन सेंटर बनाए गए हैं। बलौदाबाजार-भाटापारा जिले में, तीनों जांचों के लिए कुल 90, गरियाबंद में 56, महासमुंद में 84, धमतरी में 108, दुर्ग में 98, बेमेतरा में 62, बालोद में 72, कबीरधाम में 79, राजनांदगांव में 164, मुंगेली में 48 , रायगढ़ में 15, जांजगीर-चांपा में 89, बिलासपुर में 61, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में 40 और कोरबा में 55 केंद्र बनाए गए हैं।

बस्तर जिले के कुल 49 केंद्रों पर कोरोना जांच की जा रही है। वहां, 23 केंद्रों में एंटीजन टेस्ट संकलित किए जा रहे हैं और 24 केंद्रों में आरटीपीआरसी परीक्षण के लिए नमूने और दो केंद्रों में ट्रू-एनएटी परीक्षण किया जा रहा है। कांकेर जिले की तीनों जाँचों के लिए कुल 215, बीजापुर में 52, नारायणपुर में 28, दंतेवाड़ा में 60, कोंडागांव में 59, सुकमा में 39, सर्गुजा में 72, बलरामपुर-रामानुजगंज में 102, कोरिया में 106, सूरजपुर में 53 और जशपुर में कुल 95 केंद्र स्थापित किए गए हैं।



source https://upuklive.com/deshvidesh/chhattisgarh-took-these-steps-to-deal-with-corona/cid1762870.htm

Post a Comment

0 Comments