5 हजार फीट की ऊंचाई पर बना है ये कैफ़े

भारत का पहला ‘प्राकृतिक आइस कैफे’ लेह-लद्दाख के एक गांव में समुद्र तल से 5,000 फीट की ऊंचाई पर खोला गया है। कथित तौर पर, यह कैफे मनाली-लेह राजमार्ग पर है।

यह कैफे पूरी तरह से प्राकृतिक है।यह कैफे स्थानीय लोगों की मदद से सर्दियों में सीमा सड़क संगठन द्वारा बनाया गया है। कहा जाता है कि कैफे जल्द ही खुल जाएगा। कैफे को सर्दियों में पानी की सुरक्षा के लिए बनाया गया है। यह कैफे ‘स्तूप प्रोजेक्ट’ की प्रसिद्ध इंजीनियर सोनम वांगचुक अवधारणा द्वारा बनाया गया है।

इस परियोजना को देखने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक उमड़ रहे हैं। कैफ़े टीले के आकार का बना हुआ, जिसे सर्दियों में पानी की बचत के मकसद से बनाया गया था. वहीं गर्मियां आते ही पानी सिंचाई के काम में लाया जाएगा.

ये शानदार कैफ़े वहां आने वाले पर्यटकों को काफ़ी आकर्षित कर रहा है और वीडियो में लोगों को इस जगह का पूरा लुत्फ़ उठाते देख सकते हैं. कोई बड़े चाव से नूडल्स खाने में लगा है, तो कोई आराम से Hot ड्रिंक्स ले रहा है।



source https://upuklive.com/ajabgajab/this-caf-is-built-at-a-height-of-5-thousand-feet/cid1565357.htm

Post a Comment

0 Comments