मेरठ में हुई घटना के बाद योगी सरकार के ’मिशन शक्ति’ के हुए 15 टुकड़े : आप

लखनऊ। आम आदमी पार्टी ने योगी सरकार के मिशन शक्ति पर सवाल उठाते हुए कहा है कि अभियान एक सराहनीय कदम है पर अखबारों की सुर्खियों में और हक़ीक़त में ज़मीन आसमान का फ़र्क़ है। प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा शुरू किए गए ’मिशन शक्ति’ का ज़िक्र करते हुए आप उत्तर प्रदेश के प्रमुख प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए योगी सरकार ’मिशन शक्ति’ अभियान चला रही है और दावा किया जा रहा है कि अभियान चलाने से महिलाओं के प्रति अपराध में प्रदेश में कमी लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि आज के अखबारों की सुर्खियां है कि 23 हजार से ज्यादा लोग ’मिशन शक्ति’ के तहत महिलाओं के साथ छेड़छाड़ व अन्य अपराधों में बुक किये गए है, जिनसे माफी मंगवाई गई है कि वे आइंदा छेड़छाड़ जैसी घटनाओं से दूर रहेंगे। लेकिन हेडलाइन से अलग ज़मीनी हक़ीक़त कुछ और ही है।
आम आदमी पार्टी के प्रदेश कार्यालय में मंगलवार को आयोजित प्रेस वार्ता में वैभव ने कहा कि मेरठ की घटना जिसमे एक महिला की लाश करीब 15 टुकड़ो में मिली है जिसका सर गायब है यह घंटना एक बहुत जघन्य घटना है जिससे एक बार प्रदेश फिर से दहल गया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में आशंका जताई जा रही है कि इसमें सेक्सुअल क्राइम के बाद मर्डर किया गया है। 
बीते 24 घंटो में घटित अपराधों की एक फेरिस्त उन्होंने गिनाई जिसमे पीलीभीत में 5 साल की एक छोटी बच्ची के साथ उसके अपने शिक्षक द्वारा रेप किया गया, मुरादाबाद में गैंगरेप हुआ, बेलारी थाना के तहत टाटा मैजिक ड्रावर व उसके एक सहयोगी ने एक लड़की को अगवा कर उसका रेप किया, औऱया में खेत में किशोरी का शव बरामद हुआ है। गले मे दुप्पटा कशा था गांववालों ने हंगामा किया और आशंका जताई जा रही है कि इसके साथ भी रेप हुआ है इसके बाद घटना को अंजाम दिया गया है। एटा जिले में मनचलों की छेड़छाड़ से परेशान एक युवती ने चौथी मंजिल से छलांग लगा कर आत्महत्या कर ली। इसके अलावा कैम्परियर गंज में 10 साल की एक बालिका के साथ रेप हुआ है, रेप करने वाला भी माइनर है। उन्होंने कहा कि यह सभी घटनाएं प्रदेश की ज़मीनी हक़ीक़त है ’मिशन शक्ति’ प्रचार के बाद।
उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी योगी सरकार से पूछना चाहती है कि प्रदेश में ये क्या हो रहा है? अपराधियों ने 15 टुकड़े कर दिए है योगी जी के ’मिशन शक्ति’ के। अगर मिशन शक्ति के प्रति उत्तर प्रदेश में महिलाओं के प्रति जो अपराध हो रहे उन्हें रोकने के लिए योगी सरकार सच में गम्भीर है तो बीजेपी सरकार आने से लेकर अब तक थानों में जो लम्बित मामले है क्या उनपर भी कोई कायर्वाही की जा रही है? क्या उनकों भी फास्टट्रैक कोर्ट के अंदर चलाने का काम किया जा रहा है? वो सारी रेप की घटनाएं जिन्होंने पूरे प्रदेश को हिलाया है, जिनके अंदर भाजपा के कई रसूकदार नेता शामिल पाए गए है उनके अंदर कोई जांच की कार्यवाही की जा रही है? 
उन्होंने कहा कि क्योंकि योगी सरकार सड़क से लोगों को उठा के फॉर्म भरवा के उनसे माफी मंगवाने का काम कर रही है, ये जनता की आंखों में धूल झोंकने के अलावा और कुछ नहीं है। आम आदमी पार्टी इसको पॉलिटिकल स्टंट कह रही है। क्योंकि जो असली घटनाएं है वो अखबारों में रंगी पड़ी है की प्रदेश में क्राइम किसी भी तरह से कम नहीं हो रहा है। 
उन्होंने कहा कि हमारी पहली मांग ये है कि जो थानों में मामले है महिलाओं के प्रति सबसे पहले खोलकर उनकी विवेचनाओं में तेजी लाई जाए उनको फास्टट्रैक कोर्ट के हवाले किया जाए और इस मामलों में क्या प्रगति हुई इसकी डेली रिपोर्ट अखबारों में जारी की जाए। 
हाथरस कांड पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि जिस अपराध ने पूरे प्रदेश को हिला दिया उसमे कोर्ट की निगरानी में जांच के आदेश योगी सरकार के मुँह पर एक तमाचा है और ये साबित करता है की कोर्ट भी इस बात को मानता है कि इस घटना को दबाने में सरकार शामिल है।  (आईपीएन)

source https://upuklive.com/deshvidesh/15-pieces-of-yogi-governments-mission-shakti-after-the/cid1559619.htm

Post a Comment

0 Comments