नया और विचित्र सेक्स ट्रेंड है पीगैज्म

इन दिनों एक नया और बेहद विचित्र सेक्स ट्रेंड महिलाओं के बीच देखने को मिल रहा है और इसका नाम है ‘पीगैज्म’… इस सेक्स ट्रेंड को अपनाने वाली महिलाओं का कहना है कि जब वे लंबे समय तक यूरीन को शरीर में रोककर रखने के बाद आखिरकार यूरीन पास करती हैं तो उन्हें शरीर में एक तरह का ऑर्गैज्म महसूस होता है और इसे नाम दिया गया है ‘पीगैज्म’।
पूरे शरीर में महसूस होती है सिहरन
एक लड़के को उसकी गर्लफ्रेंड ने बताया कि जब वह लंबे समय तक यूरीन को शरीर में रोकने के बाद यूरीन पास करती है तो उसे पूरे शरीर में सिहरन महसूस होती है जो उसकी रीढ़ की हड्डी से लेकर सिर तक जाती है। इस बात को जानने के बाद उस लड़के ने एक ऑनलाइन फोरम के जरिए कई लोगों से यह सवाल पूछा कि क्या वे भी पीगैज्म को ट्राई करती हैं तो इस पर कई महिलाओं ने कहा कि इस टेक्नीक के जरिए ‘फुल बॉडी मसाज’ वाली फीलिंग आती है।
किडनी को हो सकता है नुकसान 
इस टेक्नीक के खतरे के बारे में बात करते हुए डॉक्टरों का कहना है कि यह ट्रेंड बेहद हानिकारक है और इससे यूरिनरी इंफेक्शन का खतरा रहता है जिससे इंसान की किडनी तक डैमेज हो सकती है। जब आप लंबे समय तक यूरीन पास नहीं करते तो ब्लैडर जरूरत से ज्यादा भर जाता है जिसके बाद पेल्विस नर्वस में उत्तेजना महसूस होने लगती है और इसके बाद जब यूरीन पास होता है तो पूरी बॉडी में ऑर्गैज्म जैसी फीलिंग आती है। 
रात के वक्त महसूस होता है पीगैज्म 
कई महिलाओं का कहना है कि अक्सर रात के वक्त जब वे नींद से उठती हैं तो उन्हें ‘पीगैज्म’ महसूस होता है। हालांकि दूसरी महिलाओं का कहना है कि जब काफी देर तक यूरीन रोक कर रखने के बाद वे यूरीन पास करती हैं तो उन्हें संतुष्टि तो महसूस होती है लेकिन वो फीलिंग ऑर्गैज्म जैसी नहीं होती। 
इंफेक्शन का है खतरा 
डॉक्टर्स इस बारे में चेतावनी देते हुए कहते हैं कि पीगैज्म तभी हासिल हो सकता है जब ब्लैडर में यूरीन सामान्य से काफी ज्यादा समय तक भरा रहे और ऐसा होने पर इंफेक्शन का खतरा रहता है। वैसे भी महिलाएं पुरुषों की तुलना में सिस्टिसिस की ज्यादा शिकार होती हैं, लिहाजा इस तरह के विचित्र ऐक्ट को महिला और पुरुष दोनों में से किसी को भी नहीं अपनाना चाहिए। डॉक्टरों का कहना है कि ऑर्गैज्म और सेल्फ प्लेजर हासिल करने के कई दूसरे तरीके हैं जिसमें किसी तरह का कोई खतरा नहीं है। 

Post a Comment

0 Comments