वादा वही जो जगाए मुहब्बत का जादू

वादा एक ऐसा वचन होता है जो आपके पार्टनर के मन में आपके प्रति भरोसा बढ़ता है और इसे आपको प्यार के साथ निभाना होता है। यह किसी प्रकार की कोई शर्त नहीं होती, बस प्यार के बंधन के लिए एक समर्पण होता है जो खुशी के साथ ख़ुशी के लिए निभाया जाता है। रिश्तो में हमेशा प्यार रहे इसलिए प्रेमी या दंपत्ति एक दूसरे की खुशी के लिए आपस में कुछ वादे करते हैं। याद रखिए, वादे करना जितना आसान होता है, उन्हें निभाना भी उतना ही आसान होता है। लेकिन उसके लिए जरुरी है की आपका प्रेम सच्चा हो।
यह सिर्फ आकर्षण या छलावा न हो। सच्चा प्रेम शर्तो पर नहीं चलता है। यह त्याग, समर्पण और भरोसा चाहता है। यदि अपने अपने प्रेमी से कोई वादा किया है और उससे सचा प्रेम करते है तो आपको अपना वादा ताउम्र निभाना होता है। यह ऐसा होना चाहिए जिसमें दोनों की खुशी छिपी हो। प्रेम को खुशी के नाम से भी जाना जाता है और यह तभी दिलो-दिमाग पर अपना असर दिखाती है जब आप इसे खुद तक सीमित न रखें। प्रेमी से किये गए वादे के साथ एक खास रिश्ता भी बन जाता है जो हमेशा आपको उससे जोड़े रखता है। प्रॉमिस से रिश्तों की मिठास बढ़ती है।
वादा उसी को कहते है जो प्यार से निभाया जाए और जो प्यार को बरकरार भी रखे। अगर आप अपने वादों पर कायम रहते हैं तो प्यार का असर हमेशा कायम रहेगा। वादे करते वक्त इस बात का खास ध्यान रखें कि वे वास्तविकता से जुड़े हों। भले ही आप चांद-सितारे न तोड़कर ला सकें लेकिन यह वादा तो निभा सकते हैं कि प्यार के रिश्ते को कभी नहीं तोड़ेंगे।

Post a Comment

0 Comments