भूतों का घर है उत्तराखण्ड का यह बंगला, लोग खाते हैं ख़ौफ

कभी-कभी हम जिन बातों पर यकीन नहीं करते हैं ऐसी बातों पर भी यकीन करना पड़ता है. दुनिया भर में ऐसी कई जगहे हैं जहाँ पर आपको ऐसी चीज़ें या ऐसे लोग मिल जाएंगे जो आपको हैरान कर देंगे. ऐसी कई जगहें भारत में भी हैं. आपको बता दें कि देवभूमि उत्तराखंड के अबोट मांउट से जुडी एक ऐसी कहानी है जो यहाँ के लोगों को काफी लम्बे समय से डराती आ रही है.
उत्तराखंड के अबोट माउंट में एक रहस्यमयी बंगला है जिसे यहाँ के लोग काफी अजीब मानते हैं. यहाँ के स्थानीय निवासियों की मानें तो ये बंगला शापित हैं. कई लोगों ने ऐसा दवा किया है की जब भी वो इस बंगले में गये हैं तब उनके साथ अजीबो गरीब घटनाएं हुई थीं. उस रहस्यमयी बंगले का नाम है एबी.
अबोट माउंट का यह गाँव हिन्दुस्तान की 10 सबसे डरावनी जगहों में शुमार है. ऐबी को आज से लगभग 111 साल पहले यानी साल 1905 में बनाया गया था और इस बंगले में रहते थे एक अंग्रेज डॉक्टर मौरिस.
कुछ समय के बाद साल 1921 में इस बंगले को अस्पताल में तब्दील कर दिया गया और यहीं से शुरू होती है इसकी खौफनाक कहानी. स्थानीय निवासी डॉ रवि सिन्हा बताते हैं कि एक समय में डॉक्टर मौरिस ऐबी बंगले में लोगों का इलाज करते थे.
उनका कहना है कि डॉक्टर मौरिस के पास कुछ अजीब सी शक्तियां भी थीं. मैरिस का संपर्क सीधे रहस्यमयी आत्माओं से था, जिसके कारण से उन्हें पहले ही पता लग जाता था कोई व्यक्ति किस दिन मरेगा.
इसी रहस्य के कारण डॉक्टर मौरिस बंगले के जिस कमरे में रहते थे, उसे मुक्ति कोठरी कहते हैं. इस मामले में बरसों पुरानी किंवदंती है कि उसी मुक्ति कोठरी में डॉक्टर मौरिस इंसानों के शरीर की चीरफाड़ करते थे. साथ ही कुछ ऐसे भी रहस्यमयी प्रयोग करते थे, जिसकी जानकारी किसी को नहीं थी.
इलाके के लोगों का दावा है कि इस बंगले में शाम ढलते ही अजीबों गरीब घटनाएं होने लगती हैं. यहाँ के बाचों ने भी बताया है की उन्हें बंगले के पास कई रहस्यमई साए दिखाई देते हैं जिनके बारे में उन्होंने अपने घरों में भी बताया है. सिर्फ बच्चे ही नही बल्कि वयस्कों ने भी इस घर में कई आत्माओं की मौजूदगी को महसूस किया है.
यह बंगला कई सालों से लोगों की चर्चा का विषय बना हुआ है और अब यहाँ के लोग इस बंगले से दूर ही रहते हैं और यहाँ आने वाले लोगों को आगाह भी करते हैं कि वो इससे दूर ही रहे. यहाँ के लोग कहते हैं कि बंगला साल दर साल और भूतहा हो गया है और अब तो लोग यहाँ आने से भी डरते हैं.

Post a Comment

0 Comments