भगवान कुबेर की कृपा से मिलेगा पैसा ही पैसा, बस करने होंगे ये 5 उपाय

कई बार वास्तु दोष के कारण मेहनत करने के बावजूद इंसान को उसका पूरा फल नहीं मिल पाता है. पैसा कमाता है तो टिक नहीं पाता है. अक्सर धन हानि होने के चलते आर्थिक तंगी आने लगती है. ऐसे में जरूरी है कि समय रहते वास्तु दोष का निवारण किया जाए. इसके लिए घर में रखे सामान की जगह में कुछ बदलाव करना पड़ सकता है. वास्तु नियमों के इन नियमों का ठीक तरह से पालन कर लिया जाए तो घर में सुख-समृद्धि और बरकत आने लगती है.

घर के पूजा स्थल में मां लक्ष्मी और कुबेर देव की मूर्ति स्थापित कर रोजाना पूजा करने से धन आगमन के द्वार खुलते हैं. इससे घर में बरकत होने लगती है और कभी पैसों की कमी नहीं होती है.

मंदिर में भगवान को फूल अर्पित करने के बाद लोग ऐसे ही छोड़ देते हैं, जो बाद में सूख जाते हैं. वास्तु शास्त्र में पूजा घर में कभी भी सूखे हुए फूल या माला नहीं रखनी चाहिए. इससे घर में दरिद्रता आने लगती है. ऐसे में जरूरी है कि फूलों को सूखने पर पूजा घर से हटा लें.

वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर के उत्तरी दिशा को कुबेर का निवास माना जाता है. ऐसे में जरूरी है कि तिजोरी या पैसा रखने वाली जगह को इस दिशा में ही बनाएं. वहीं, अलमारी में धन हमेशा मध्य या ऊपरी हिस्से में रखें. तिजोरी में व्यापार वृद्धि यंत्र, महालक्ष्मी यंत्र, बीसा यंत्र रखना भी शुभ माना जाता है.

वास्तु शास्त्र में घर के पूजा स्थल पर दक्षिणावर्ती शंख रखना बेहद शुभ माना जाता है. इसको पूजा के दौरान रोजाना बजाना चाहिए. शंख की ध्वनि से मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर घर में वास करने चली आती हैं और धन से संबंधित सभी दिक्कतें दूर करती हैं.

लोगों की आदत होती है कि रात को खाना खाने के बाद जूठे बर्तन किचन में ही छोड़ देते हैं. वास्तु शास्त्र के हिसाब से ऐसा करना सही नहीं माना गया है. ऐसा करने से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं और घर छोड़कर चली जाती हैं. ऐसे में जब भी खाना खाएं, तुरंत बर्तन साफ कर लें.

Post a Comment

0 Comments