सर्दी में आपकी ये छोटी सी गलती बन सकती है मौत की वजह, आ सकता है हार्ट अटैक

सर्दियों के मौसम में हमारी रक्त वाहिकाओं के सिकुड़ने से दबाव बढ़ जाता है और रक्तचाप भी बढ़ने लगता है। बीपी बढ़ने के साथ ही हार्ट अटैक के मामले सामने आने लगते हैं। ठंड का मौसम आने के साथ ही संक्रमण, सर्दी-खांसी, बुखार समेत कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इनमें से सबसे खतरनाक है हार्ट अटैक। सर्दियों में हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए दिल की सेहत का ख्याल रखना बेहद जरूरी है।

आज हम आपको हार्ट अटैक से बचने के ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं, जिनसे आप अपने दिल को मजबूत बना सकते हैं और साथ ही हार्ट अटैक के खतरे से भी बच सकते हैं।

Also Read - जानिए वजन घटाने में किस तरह मददगार है विटामिन-डी

जानें खास टिप्स :

इन लोगों में हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा होता है

यूरोपियन जर्नल ऑफ एपिडेमियोलॉजी में प्रकाशित एक शोध के अनुसार, जो लोग अधिक वजन वाले हैं, या मोटापे की समस्या से परेशान हैं, या जो लोग सर्दी के मौसम में उच्च रक्तचाप, दिल के दौरे की समस्या से पीड़ित हैं। इसका खतरा 30 गुना तक बढ़ जाता है।

रक्त के थक्के दिल का दौरा

सर्दियों के मौसम में हमारी रक्त वाहिकाओं के सिकुड़ने से दबाव बढ़ जाता है और रक्तचाप भी बढ़ने लगता है। बीपी बढ़ने के साथ ही हार्ट अटैक के मामले सामने आने लगते हैं। जानकारों के मुताबिक सर्दियों में लोगों के शरीर में खून के थक्के बनने लगते हैं, जिससे दिल का दौरा पड़ने की संभावना भी बढ़ जाती है।

सुबह के समय हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा होता है

ठंड के मौसम में ज्यादातर मामलों में लोगों को सुबह के समय दिल का दौरा पड़ जाता है। सर्दियों में सुबह के तापमान में गिरावट के कारण शरीर का तापमान भी कम हो जाता है। इससे शरीर के तापमान को बराबर करते हुए ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है, जो हार्ट अटैक का कारण बनता है।

Also Read - जिम में क्यों आ रहा है हार्ट अटैक, एक्सरसाइज करते वक्त ये गलती कभी न करें

ऐसे रखें दिल की सेहत का ख्याल

सर्दियों में सुबह 6 से 7 बजे के बीच टहलने न जाएं। सुबह 9 बजे के बाद ही टहलने जाएं।
नमक कम खाएं।
ज्यादा से ज्यादा समय धूप में बिताएं।
रोजाना कुछ व्यायाम करें।
खान-पान पर नियंत्रण रखें और तला, भुना, मीठा खाने से बचें।
ठंडे कपड़ों का खास ख्याल रखें। सर्दियों में खुद को ढक कर रखना बहुत जरूरी होता है।
नियमित रूप से रक्तचाप की जांच करना महत्वपूर्ण है। खासकर उन लोगों के लिए जिनका बीपी हाई रहता है।

Post a Comment

0 Comments