महिला ने वीडियो कॉल कर उतारे कपड़े और बुज़ुर्ग को लग गया 2 लाख रुपये का चूना, जानिए पूरा मामला

आधुनिक युग इंटरनेट का है, जहां साइबर ठगी के मामलों में लगातार बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। आए दिन लोगों के पास फर्जी नंबर से कॉल आते हैं और झांसे देकर ठगी का शिकार बना लेते हैं।

इसलिए जरूरी है कि आप ऐसे फ्रॉड नंबरों से चौकस रहने की जरूरत है। कभी पता चले कि आपको कोई अनाप-शनाप झांसा दे और आपके अकाउंट से पैसे ही गायब हो जाए।

ऐसा करने के लिए साइबर ठग अब व्हाट्सएप का इस्तेमाल कर रहे हैं। ताजा मामला घाटकोपर थाना क्षेत्र का है, जहां एक बुजुर्ग को महिला ने ठगी का शिकार बना लिया। महिला ने वीडियो कॉल कर अपने कपड़े उतार दिया और फिर धोखाधड़ी का शिकार बना लिया।

उसके बाद एक रिकॉर्डिंग के साथ ब्लैकमेल किया गया। धोखाधड़ी को दिल्ली पुलिस और पत्रकारों के वरिष्ठ अधिकारियों के रूप में पेश किया गया। वरिष्ठ नागरिक से ​​2.21 लाख रुपये उड़ा लिए. आइए जानते हैं आखिर कैसे पीड़ित ने इतने सारे पैसे दे दिए।

व्हाट्सएप पर आई अश्लील वीडियो कॉल

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मामले की जांच कर रही पुलिस के मुताबिक, शिकायतकर्ता को 5 सितंबर को एक अज्ञात नंबर से एक व्हाट्सएप संदेश मिला। इसमें लिखा था, ‘मैं जयपुर से हूं,’ इसके बाद उसी नंबर से वीडियो कॉल की गई। कॉल आने पर उसने देखा कि एक महिला कपड़े उतार रही है। उसने उससे भी ऐसा ही करने का आग्रह किया, जिस पर उसने फोन काट दिया।


आईपीएस अधिकारी बनकर मांगे पैसे

कुछ घंटों बाद, उसे एक और अज्ञात नंबर से कॉल आया. पुलिस अधिकारी के मुताबिक, ‘कॉलर ने खुद को दिल्ली पुलिस के आईपीएस अधिकारी राहुल अहिरवार के रूप में पहचानते हुए शिकायतकर्ता को बताया कि उसके पास एक महिला के साथ उसकी वीडियो कॉल की रिकॉर्डिंग है। अगर उसे 30,500 रुपये नहीं मिलते हैं तो वीडियो यूट्यूब पर अपलोड किया जाएगा। उन्होंने 75 वर्षीय के साथ बैंक अकाउंट्स की डिटेल्स भी शेयर की है।

वहीं, पुलिस अधिकारी ने कहा कि फर्जी पुलिस अधिकारी ने शिकायतकर्ता के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की भी धमकी दी और कहा कि अगर वो पैसे ट्रांसफर नहीं करता है तो बड़े लफड़े में पड़ सकता है। डरकर शिकायतकर्ता ने फोन करने वाले को राशि ट्रांसफर कर दी।

Post a Comment

0 Comments