मुख्यमंत्री योगी ने की श्रीराम जन्मभूमि कारिडोर की समीक्षा, कार्यों में तेजी लाने के दिए निर्देश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अयोध्या जिले में चल रहे धमार्थ कार्यों की समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने काशी विश्वनाथ धाम की तर्ज पर बन रहे श्रीराम जन्मभूमि कारिडोर की भी समीक्षा की और अधिकारियों को अयोध्या के विकास कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि ड्रेनेज के कार्य में तेजी लाएं और बिजली के तारों को यथाशीघ्र अंडरग्राउंड करें। उन्होंने लता मंगेशकर चौक के कार्य में तेजी लाने और अयोध्या को सोलर सिटी बनाने के लिए प्राथमिकता के आधार पर कार्य करने के निर्देश दिए।

सरकारी आवास पर देर शाम आहूत बैठक में मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधाओं को देखते हुए विकास कार्यों में तेजी लाएं। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि तक जाने वाले तीनों मार्गों के भूमि अधिग्रहण और पुनर्वास के कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करें। सीएम योगी ने कहा कि सहादतगंज नया घाट मार्ग से सुग्रीव किला होते हुए श्रीराम जन्मभूमि मंदिर तक जाने वाले ‘जन्मभूमि पथ’ के कार्य को मार्च तक पूरा करें। ऐसे ही उन्होंने फैजाबाद-अयोध्या मुख्य मार्ग से हुनमान गढ़ी होते हुए जन्मभूमि तक जाने वाले ‘भक्ति पथ’ को अक्तूबर तक और सहादतगंज से नयाघाट जाने वाले ‘राम पथ’ तक के कार्यों को दिसंबर 2023 तक पूरा करने के निर्देश दिए हैं।

सीएम योगी अयोध्या में बन रही चार पार्किंग के कार्यों की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि पार्किंग किसी भी शहर की मूलभूत आवश्यकताओं में से एक है। देश और विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं को वाहन पार्किंग में कोई समस्या न हो, इसलिए टेढी बाजार पूर्वी दिशा, टेढी बाजार पश्चिमी दिशा, कौशलेश कुंज और अमानीगंज पार्किंग के कार्यों को समय से पूरा करें।

Post a Comment

0 Comments