स्वतंत्रता दिवस समरसता के साथ राष्ट्र निर्माण में आगे बढ़ने की प्रेरणा देता हैः राज्यपाल

देहरादून। राज्यपाल ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस का दिन हम सब को समरसता, समृद्धि, खुशहाली से राष्ट्र निर्माण की तरफ बढ़ने का प्रेरणा देता है।

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनि) ने समस्त देश एवं प्रदेश वासियों को आजादी के 75 वर्ष पूरे होने की शुभकामनाएं दीं। राज्यपाल ने कहा कि इस मौक़े पर हम सब मिल-जुल कर संकल्प लें कि इस राज्य और देश को आगे बढ़ाते हुए, बेहतर स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार के नये अवसरों को तलाशते हुए इनोवेशन और कार्यकुशलता से एक नयी ऊंचाई तक पहुंचाएंगे।

राज्यपाल ने वीरता पदक विजेताओं, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को याद करते हुए कहा कि इस देश की आजादी एवं सुरक्षा के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया वह कभी भुलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर प्रत्येक देशवासियों में राष्ट्र निर्माण, चरित्र निर्माण और देश की सुरक्षा के लिए जो उत्साह देशभर में दिख रहा है वह अपने आप में अलग है।

राज्यपाल ने कहा कि सरकार द्वारा कृषि, जैविक खेती, औद्यानिकी को मज़बूती देने के लिए लगातार कार्य किए जा रहे हैं। युवाओं को पहाड़ में ही विभिन्न स्वरोज़गार योजनाओं के जरिए प्रोत्साहित किया जा रहा है ताकि पलायन की समस्या को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा युवाओं को रोजगार परक शिक्षा व ट्रेनिंग भी दी जा रही है।

राज्यपाल ने उत्तराखंड की मातृशक्ति को नमन करते हुए कहा कि प्रदेश की महिलाओं में संघर्ष की अद्भुत शक्ति है। विषम भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद भी मातृशक्ति राष्ट्रनिर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।

विश्व के सामने आत्मनिर्भर भारत की मिसाल पेश-

राज्यपाल ने कहा कि स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद से देश हर एक क्षेत्र में नए-नए आयाम स्थापित कर प्रगति के मार्ग पर आगे बढ़ रहा है। हमने विश्वव्यापी महामारी से लड़ते हुए दो सौ करोड़ से अधिक स्वदेशी टीके का निर्माण कर पूरे विश्व के सामने आत्मनिर्भर भारत की मिसाल पेश की है।

प्रगति के पथ पर उत्तराखंड-

राज्यपाल ने कहा कि देश के साथ-साथ उत्तराखंड भी विषम भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद चुनौतियों से पार पाते हुए प्रगति की दिशा में आगे बढ़ रहा है। उत्तराखंड में चार धाम यात्रा का सफल संचालन के साथ ही कनेक्टिविटि, रेल मार्गों के निर्माण से भविष्य में यात्रा और भी सुगम और सुविधाजनक होने की उम्मीद है।

Post a Comment

0 Comments