तिरंगे के सम्मान में कोई भी कमी नहीं रहनी चाहिए : जिलाधिकारी

मुरादाबाद। 11 से 17 अगस्त तक हर घर तिरंगा फहराये जाने संबंधी कार्यक्रम के सफलतापूर्वक आयोजन हेतु कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बैठक आहूत हुई।

बैठक में जिलाधिकारी शैलेन्द्र कुमार सिंह ने हर घर तिरंगा फहराने संबंधी कार्यक्रम को अधिक सफल बनाने हेतु उद्यमियों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं से सुझाव लिए। उन्होंने कहा कि उद्यमी आगे बढ़कर इस महापर्व में अपना योगदान प्रदान करें। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य प्रत्येक नागरिक के मन में राष्ट्र प्रेम की भावना को जागरूक करते हुए स्वतंत्रता के प्रतीकों के प्रति सम्मान व भाव उजागर करना है।

इस अवसर पर डीएम ने उद्यमियों से कहा कि आपके यहां जितने भी वर्कर हैं, उनको सुनिश्चित करायेंगे कि अपने घर पर 11 से 17 अगस्त तक तिरंगा झण्डा फहराने के संबंध में जागरुकता भी फैलाये कि देश की आजादी 75 वर्ष पूर्ण होने पर अपने घर पर झण्डा फहराये यह गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि हमें यह अवसर मिला है कि राष्ट्र के प्रति हम अपने घर पर तिरंगा फहराकर राष्ट्रप्रेम जगाये और तिरंगा इस बात का प्रतीक है कि लोकतांत्रिक देश के नागरिक है और उस अवसर को मनाने के लिए हर घर में एक तिरंगा अवश्य फहराया जाये और इसे फेस्टिवल का रूप दिया जाये। तिरंगे के सम्मान में कोई भी कमी नहीं रहनी चाहिए। राष्ट्रीय ध्वज को सम्मानपूर्वक ही लगाना है और सम्मान से ही उतारकर रखना है।

जिलाधिकारी ने अन्त्योदय कार्डधारकों को निःशुल्क झण्डा उपलब्ध कराने सहित हर घर पर तिरंगा लहराये जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रतिष्ठानों की सजावट भी करें तथा जो लोग गरीब हैं, हम उन्हें स्ट्रीट वेन्डर से झण्डा उपलब्ध करायेंगे। उन्होंने कहा कि फटा हुआ तिरंगा को न फहराये तथा कूडे में फटा या खराब झण्डा न फेकें।

जिलाधिकारी ने बताया कि 11 अगस्त से 17 अगस्त के बाद भी झण्डा फहराया जा सकता है। झंडे को बनाने में खादी के अलावा और भी कपडे़ का उपयोग किया जा सकता है। डीएम ने सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिनती भी हर घर तिरंगे के संबंध में रिपोर्टिंग हो रही है विकास खण्ड मुख्यालय पर उतने झण्डे भी प्राप्त हो जायें। समूहों को भी कार्य स्थल पर जाकर देख ले कि कार्य की क्या स्थिति है कितने झण्डे बन गये कितने बनने शेष हैं तथा विकास खण्ड मुख्यालय को उपलब्ध करा दिये गये हैं। उन्होंने जिला पूर्ति अधिकारी को भी निर्देशित किया कि पूर्ति निरीक्षक झण्डे प्राप्ति का कार्य समय से सुनिश्चित कर लें तथा सभी तिरंगों का पूर्ण विवरण अपने पास रखें।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आनन्द वर्धन, अपर जिलाधिकारी नगर आलोक कुमार वर्मा, परियोजना निदेशक सतीश कुमार मिश्र, सिटी मजिस्ट्रेट एमपी सिंह, डीडीओ, जीएमडीआईसी, समस्त बीडीओ, समस्त ईओ सहित अन्य सभी संबंधित अधिकारी, उद्यमी एवं विभिन्न इकाईयों के प्रबन्धकगण उपस्थित रहें।

Post a Comment

0 Comments