भाजपा शासन में हुआ अंत्योदय से राष्ट्रोदय: मुख्यमंत्री

गोरखपुर। गुरुवार शाम भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के तीन दिवसीय प्रदेश स्तरीय प्रशिक्षण शिविर के समापन सत्र को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा का शासनकाल समाज के अंतिम पायदान के व्यक्ति की सत्ता के सिंहासन तक पहुंचने की सुफल यात्रा है। यह अंत्योदय से राष्ट्रोदय की यात्रा है।

उन्होंने कहा कि एक सामान्य जनजातीय परिवार की बहन द्रोपदी मुर्मू का राष्ट्रपति पद पर आसीन होना इसी अंत्योदय से राष्ट्रोदय का प्रतीक है। आजादी के अमृत महोत्सव में देश के हिस्से आई इस उपलब्धि से पूरा देश उत्साहित है। हर तबका अभिभूत है। यह सब सम्भव हुआ है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजनरी नेतृत्व से। सबका साथ, सबका, विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास का उनका विजन आज समाज के हर तबके में नजर आता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण होने के अवसर के हम सभी साक्षी बन रहे हैं। यह क्षण गौरवपूर्ण है और महत्वपूर्ण भी। भारतीय जनता पार्टी और भारतीय जनसंघ के संस्थापकों ने जो सपना देखा था और जो संकल्प लिया था वह हमारे लिए मंत्र है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति को सत्ता के शीर्ष तक पहुंचाने की जो परिकल्पना की थी आज वह परिकल्पना साकार रूप में देश दुनिया के सामने है। अनुसूचित जनजाति समाज से जुड़ी बहन श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति बनने का अवसर मिलना पार्टी के महापुरुषों के सपनों को साकार करने जैसा है। यह भारतीय मूल्यों व भारतीय आदर्शों का बेहतरीन सम्मान है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का एक-एक अभियान ''एक भारत श्रेष्ठ भारत'' की परिकल्पना को साकार करने वाला है।

अंत्योदय लक्ष्य को प्राप्त कर रही भाजपा सरकार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केंद्र और राज्य की भाजपा सरकारें अंत्योदय के लक्ष्यों को प्राप्त कर रही हैं। उन्होंने कहा कि क्या कभी किसी ने सोचा था कि ऐसी भी सरकार आएगी जो करोड़ों गरीबों को घर देगी, शौचालय देगी, निशुल्क बिजली व रसोई गैस कनेक्शन देगी। पर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में यह सब संभव हुआ है। देश मे 10 करोड़ गरीब परिवारों को शौचालय बनाकर दिए गए। ये शौचालय नारी गरिमा के साथ विकास के भी प्रतीक हैं। इन शौचालयों के होने से 50 करोड़ों लोग खुले में शौच से होने वाली बीमारियों से मुक्त हो सके हैं। देश में 3 करोड़ गरीबों के आवास बनाए गए, 8 करोड़ गरीब परिवारों को निशुल्क रसोई गैस कनेक्शन, 4 करोड़ गरीबों को निशुल्क बिजली कनेक्शन, 10 करोड़ गरीबों को आयुष्मान कार्ड दिए गए। उन्होंने बताया कि इसी क्रम में उत्तर प्रदेश में 2.61 करोड़ गरीब परिवारो को शौचालय, 43 लाख को आवास, 1.70 करोड़ को निशुल्क रसोई गैस कनेक्शन, 15 करोड़ को मुफ्त डबल राशन आदि की सौगात दी गई। हर घर को शुद्ध जल के लिए नल से जोड़ा जा रहा है।

धारा 370 समाप्त हुआ एससी-एसटी को मिलने लगा जम्मू कश्मीर में आरक्षण लाभ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जम्मू कश्मीर को लेकर डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी नारा दिया था एक देश में दो विधान, दो निशान और दो प्रधानन नहीं चलेंगे। पीएम मोदी ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 को समाप्त कर न केवल डॉमुखर्जी के सपने को पूरा किया है बल्कि आतंकवाद की अंतिम ताबूत पर कील भी ठोंक दिया है। धारा 370 समाप्त होने से जम्मू कश्मीर में एससी-एसटी लोगों को अब आरक्षण का लाभ भी मिलने लगा है।

एसटी से जुड़े हर वंचित को आवास देने वाला यूपी पहला राज्य

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया कि उत्तर प्रदेश ऐसा पहला राज्य है जिसने अनुसूचित जनजाति (एसटी) से जुड़े हर उस परिवार को प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री आवास योजना से आच्छादित किया है जिनके पास आवास की सुविधा नहीं थ। थारू, कोल, मुसहर, सहरिया, वनटांगिया आदि के लिए शासन की योजनाओं का लाभ शत प्रतिशत सुनिश्चित कराया गया है। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीराम, श्रीकृष्ण, वीर शिवाजी महाराणा प्रताप के सहयोगी बनकर जनजजातीय समुदाय ने सदैव राष्ट्र के हित में अपना योगदान दिया है। इन जनजातीय समुदाय के लोगों को लाभ पहली बार बीजेपी की सरकार में मिला। पीएम मोदी ने भगवान बिरसा मुंडा की जयंती को जनजातीय दिवस के रूप में मनाना शुरू किया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ चार-पांच दशकों से वनवासी कल्याण कल्याण छात्रावास का संचालन कर जनजाति के बच्चों को आगे बढ़ा रहा है।

135 करोड़ जनता का प्रतिनिधित्व करने वाली पार्टी है भाजपा

सीएम योगी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी किसी व्यक्ति, परिवार, क्षेत्र, जाति या मजहब की पार्टी नहीं है। बल्कि यह देश की 135 करोड़ जनता का प्रतिनिधित्व करने वाली पार्टी है। इसी वजह से यह दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के रूप में स्थापित हुई है।

छोटे समूह बनाकर जनजातीय लोगों को दिलाएं योजनाओं का लाभ

मुख्यमंत्री ने जनजातीय समुदाय के बीच और पैठ बढ़ाने के लिए व्यवहारिक टिप्स भी दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी 75 जिलों में कार्यकर्ता छोटे समूह बनाकर जनजातीय लोगों से संवाद करें। उन्हें सरकार की योजनाओं की जानकारी दें। यदि कोई जनजातीय व्यक्ति किसी योजना के लाभ से वंचित है तो व्यक्तिगत प्रयास कर उसे संबंधित योजना का लाभ दिलाएं। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवी समूहों और ईको। टूरिज्म से जोड़कर जनजातियों का आर्थिक उत्थान किया जा सकता है। जनजातियों का प्रकृति से भावनात्मक जुड़ाव होता है और उनको साथ लेकर ईको टूरिज्म की संभावनाओं को काफी आगे बढ़ाया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें समूचे समाज को विकास व स्वावलंबन के पद पर लेकर आगे बढ़ना है।

इस अवसर पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं प्रदेश के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह, समाज कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) असीम अरुण प्रदेश प्रभारी लक्ष्मण आचार्य, भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष संजय गौड़, मोर्चा के प्रदेश प्रभारी एडवर्ड सोरेन, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह, क्षेत्रीय महामंत्री प्रदीप शुक्ला, महापौर सीताराम जायसवाल, महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता आदि मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments